Yuva Haryana
भाजपा-जजपा गठबंधन की सरकार को न तो बेरोजगारों की चिंता है और न ही गरीब लोगों की: भूपेंद्र सिंह हुड्डा
 

हरियाणा में बेरोजगारी के आंकड़ों, रोजगार, नशा, भ्रष्टाचार और अपराधों के आरोप पर कांग्रेस और भाजपा आमने-सामने हो गये हैं। विधानसभा में विपक्ष के नेता एवं दो बार मुख्यमंत्री रह चुके भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आरोप लगाया कि भाजपा-जजपा गठबंधन की सरकार को न तो बेरोजगारों की चिंता है और न ही गरीब लोगों की।

हुड्डा ने राज्य में भ्रष्टाचार चरम पर होने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार के मंत्री भ्रष्टाचार में व्यस्त हैं और अधिकारी पूरी तरह से मस्त हैं। भाजपा प्रवक्ता सुदेश कटारिया ने हुड्डा के आरोपों का जवाब देते हुए कहा है कि प्रापर्टी डीलिंग की सरकार चलाने वाले लोग भाजपा सरकार पर अंगुली उठा रहे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि भाजपा-जजपा सरकार के कार्यकाल में महंगाई, बेरोजगारी, नशे, अपराध और भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा है। विकास के नाम पर सरकार द्वारा कोरी इवेंटबाजी की जा रही है। सरकारी और अलग-अलग संस्थाओं के आंकड़ों से स्पष्ट हो चुका है कि हरियाणा महंगाई और बेरोजगारी में टाप पर है। प्रदेश का युवा 30.6 प्रतिशत बेरोजगारी दर झेल रहा है।

उन्‍होंने कहर कि बेरोजगारी के चलते लगातार युवा अपराध और नशे की गिरफ्त में फंसते जा रहे हैं। कानून-व्यवस्था की हालात ऐसी हो गई है कि प्रदेश में आम आदमी तो क्या विधायक तक सुरक्षित नहीं है। पिछले चंद दिनों में पांच विधायकों को जान से मारने की धमकियां मिल चुकी हैं और सरकार व पुलिस मौज ले रही है।

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आरोप लगाया कि हालात दिन प्रतिदिन खराब हो रहे हैं। ऐसा लग रहा है कि सरकार ने अपने हाथ खड़े कर दिए हैं। सत्ता सुख भोगने और नये-नये घोटालों को अंजाम देने के अलावा गठबंधन को किसी से कोई मतलब नहीं है। केंद्र ने भी रसोई गैस के रेट में 50 रुपये की बढ़ोतरी कर लोंगों के जले पर मिर्च रगड़ने का काम किया है। किसान के पंपसेट, डेरी उपकरणों, दूध, दही, पनीर व अन्य खाने-पीने की चीजों के टैक्स में बढ़ोतरी कर सरकार ने बता दिया है कि वह जनता को किसी तरह की राहत देने के मूड में नहीं है।

हरियाणा भाजपा के प्रवक्ता सुदेश कटारिया ने पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा के आरोपों पर आंकड़ों के साथ जवाब दिया है। कटारिया ने कहा कि बेरजोगारी व महंगाई के आंकड़े कांग्रेस प्रायोजित एजेंसियों के हैं। राज्य में सिर्फ साढ़े पांच से छह प्रतिशत युवा बेरोजगार हैं, जो एक नियमित प्रक्रिया में आते हैं।

उन्‍होंने कहा ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आठ साल में एक लाख सरकारी नौकरियां दी हैं और हर साल दो लाख युवाओं को आत्मनिर्भर भारत-आत्मनिर्भर हरियाणा योजना के तहत अपने पैरों पर खड़ा किया है। सुदेश कटारिया ने कहा कि राज्य सरकार स्टार्टअप पालिसी लेकर आई है। कम से कम यह सरकार किसानों की जमीनों के सौदे तो नहीं करती। उन्होंने आरोप लगाया कि हुड्डा के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को बिल्डर चलाते थे। नौकरियां बिकती थी। बिल्डर को जो जमीन पसंद आ जाए, सरकार उसे ही एक्वायर कर लेती थी।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस राज में सीएलयू व नौकरियों के रेट निर्धारित थे। आज भाजपा सरकार में किसान को उसकी फसल का पैसा तुरंत आनलाइन तरीके से खाते में मिलता है। विधायकों को मिल रही धमकियों पर कटारिया ने कहा कि इस बारे में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने संज्ञान लिया है और पुलिस महानिदेशक तथा गुप्तचर एजेंसियों को उचित कार्रवाई के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के सकल घरेलू उत्पादन और प्रति व्यक्ति आय में हो रही बढ़ोतरी प्रदेश की खुशहाली बयान करने के लिये काफी है। इसे किसी दूसरे प्रमाण की जरूरत नहीं है।