Yuva Haryana
आखिरकार पंचायत चुनावों को लेकर राजनीतिक दलों में भी बढ़ी सक्रियता, मूलभूत समस्याओं पर हो रहा विचार विमर्श
 

अब हरियाणा में भी पंचायत चुनावों के लिए राजनीतिक दलों की सक्रियता बढ़ती जा रही है। जब से डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का एलान आया है, कि अब पंचायत चुनाव के लिए कमर कस ली जाए तब से ही पूरे गांव में हड़कंप सा मच गया है। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का कहना है कि सितंबर महीने में यह चुनाव हो जाएंगे। वही सरपंच और पंचायत सदस्य के लिए भी बैठक आरंभ कर दी गई हैं। साथ ही बड़े बुजुर्गों के साथ बैठकर पूरे गांव की समस्याओं पर भी विचार किया जा रहा है, की जल्द से जल्द इन समस्याओं को दूर किया जाए।


इतना ही नहीं जिला परिषद और ब्लॉक समिति भी 3 से 5 गांव में जा जाकर दौरा भी कर रहे हैं और संभावित उम्मीदवारों ने तो रिश्तेदारों तक को काम सौंप दिए हैं। और यह सारी बैठकर सुबह से लेकर रात  तक जारी हैं। सभी समस्याओं पर विचार विमर्श किया जा रहा है। सारे ही उम्मीदवारों ने अभी से गांव गांव जाकर समर्थक तैयार करना आरंभ कर दिया है और गांव में जाकर हाजिरी भी लगवाने लगे हैं। इस विषय पर युवा नेता मनजीत चौधरी का भी कहना है कि यह पंचायत चुनाव काफी लेट हो रहे हैं। इनके लेट होने की वजह से सभी लोगों में उत्साह भी दिखाई दे रहा है।‌

इन सभी में गांव ठसका मीरा जी, रोहटी, झांसा, शांति नगर, अजरावर मीरापुर, मलिकपुर, मेघा मांजरा, नौसी, जलबेहड़ा , दानीपुर, बालापुर जंधोडी़ और बोधनी अन्य मैं पंचायत चुनाव को लेकर भी अधिक से अधिक सरगर्मी बनी हुई है। सब एक दूसरे से बाजी मारने के लिए बढ़ चढ़कर कार्य कर रहे हैं और एक एक के घर जाकर मान मनव्वल की जा रही है और इसी वजह से सभी उम्मीदवारों की भी संख्या काफी अधिक रहने के संकेत भी मिल रहे हैं।