Yuva Haryana
India Open 2022 : 20 साल की मालविका ने साइना नेहवाल को हराकर जीत का ख़िताब किया अपने नाम, जानिए कौन है यह युवा खिलाड़ी
 

इंडिया ओपन 2022 : इंडिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में इस बार कुछ अलग देखने को मिला, जिसकी उम्मीद शायद ही किसी ने की होगी।  20 साल की युवा खिलाडी मालविका बनसोड़ ने बैडमिंटन की दिग्गज़ साइना नेहवाल को हरा दिया। साइना नेहवाल इस युवा खिलाडी के आगे ज़्यादा देर टिक नहीं सकी और 34 मिनट में ही मालविका ने बाजी अपने नाम कर ली वही साइना इंडियन ओपन से बहार हो गई इस मैच की शुरुआत से पहले कोई भी यह नहीं कह सकता था कि ये युवा लड़की लंदन ओलिंपिक की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट को इतनी आसानी से हरा देगी। लेकिन, खेल में कब क्या हो जाए इस बात का अंदाजा कोई नहीं लगा सकता है। मालविका बनसोड ने साइना को लगातार गेम में 21-17, 21-9 से शिकस्त दी है। रैंकिंग की बात करें तो वर्ल्ड रैंकिंग में साइना इस समय 25वें नंबर पर हैं। वहीं मालविका की रैंक 111वें स्थान पर है।

सायना और मालविका के बीच पहले गेम की शुरुआत में बराबरी का मुकाबला देखने को मिला। एक समय दोनों खिलाड़ी 4-4 की बराबरी पर थी। इसके बाद मालविका ने बढ़त बना ली और इसे अंत तक कायम रखा। दूसरे गेम में भी दोनों एक समय 2-2 की बराबरी परी थी। यहां से मालविका ने बढ़त बनाई और इसे गेम और मैच जीतने तक कायम रखा। भारत के लक्ष्य सेन ने पुरुष सिंगल्स के तीसरे राउंड में जगह बना ली है। उन्होंने स्वीडन के फेलिक्स बस्र्टेड को 21-12, 21-15 से हराया। महिला सिंगल्स में टॉप सीड पीवी सिंधु ने भारत की ही इरा शर्मा को 21-10, 21-0 से हरा दिया।

मालविका महाराष्ट्र की उभरती हुई बैडमिंटन स्टार हैं। वे अंडर-13 और अंडर-17 लेवल पर स्टेट चैंपियनशिप जीत चुकी हैं। 2018 में वे वर्ल्ड जूनियर बैडमिंटन टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम में सिलेक्ट हुईं। 

साइना मेरी सदा से आदर्श रही है 

मालविका ने मैच के बाद कहा, मुझे अभी तक विश्वास नहीं हो रहा है. यह शानदार अहसास है और मैं जीत के बाद वास्तव में उत्साहित हूं. उन्होंने कहा, वह मेरी आदर्श रही हैं, क्योंकि वह एक दशक से अधिक समय से भारत में महिला बैडमिंटन की ध्वजवाहक रही हैं. मैंने उन्हें खेलते हुए देखकर शुरुआत की और मेरे खेल पर उनका काफी प्रभाव है. खेल की उनकी शैली मुझे पसंद है. उनके पास काफी शक्ति है और इसलिए मुझे उनका खेल पसंद है. आज मैंने आलराउंड खेल खेला. इसमें और कुछ खास नहीं था.

मालविका ने कहा की यह मेरे लिए सपने के सच होने जैसा है मेरे करियर की सबसे बेहतरीन शुरआत है 

कौन है मालविका बनसोड़ 

मालविका बनसोड़ नागपुर की रहने वाली है नागपुर के शिवाजी साइंस कॉलेज से पढ़ाई कर चुकी मालविका उनके माता-पिता डेंटिस्ट हैं। उनकी मां ने स्पोर्ट्स साइंस में मास्टर की डिग्री सिर्फ इसलिए हासिल की ताकि वे अपनी बेटी के खेल करियर को सही दिशा दे सकें। बचपन से ही मालविका पढ़ाई और स्पोर्ट्स दोनों में ही अव्वल थीं। 10वीं और 12वीं में 90 प्रतिशत से ज्यादा अंक हासिल करने वाली मालविका फिलहाल चेन्नई की SRM यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग कर रही हैं।