हरियाणा बोर्ड परीक्षा की नई मार्किंग स्कीम में बदलाव, अब पास होने के लिए इतने नंबर लाना जरूरी

Sahab Ram
2 Min Read

 

 

Yuva Haryana : हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड (BSEH) ने 2024 की 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा की तैयारी में बड़े बदलाव का ऐलान किया है।

इस बार की परीक्षा 27 फरवरी से 2 अप्रैल तक आयोजित की जाएगी और परीक्षा केंद्रों में कुल 5 लाख 80 हजार 533 परीक्षार्थी शामिल होंगे।

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ( BSEH )ने पहली बार 10वीं कक्षा की मूल्यांकन प्रक्रिया में बदलाव किया है। इस नई स्कीम के अनुसार, 10वीं कक्षा के परीक्षार्थियों को थ्योरी और प्रैक्टिकल के मिलाकर 33 प्रतिशत अंक होने पर ही पास किया जाएगा, जबकि पहले प्रैक्टिकल में अलग-अलग 33 प्रतिशत अंक चाहिए थे।

यह बदलाव 10वीं कक्षा के परीक्षार्थियों के लिए एक पॉजिटिव कदम है और इससे परीक्षा के तनाव में कमी होने की उम्मीद है।

बोर्ड चेयरमैन डा. वीपी यादव ने बताया कि इस बार की परीक्षा में नकल को रोकने के लिए हर परीक्षा केंद्र पर स्थायी तौर पर दो ऑब्जर्वरों की नियुक्ति की गई है और पुलिस भी हर केंद्र पर बाहरी हस्तक्षेप को रोकने के लिए तैनात रहेगी।

प्रश्र पत्रों में अल्फा न्यूमैरिकल कोड लगाया गया है ताकि प्रश्र पत्र लीक करने वाले परीक्षार्थी का पता लगाया जा सके और उन पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सके।

इस साल की परीक्षा में 10वीं कक्षा का पाठ्यक्रम 27 फरवरी से 26 मार्च तक आयोजित होगा, जिसमें 3 लाख 3 हजार 869 परीक्षार्थी भाग लेंगे। उसके बाद 12वीं कक्षा की परीक्षा 27 फरवरी से 2 अप्रैल तक चलेगी, जिसमें 2 लाख 21 हजार 484 परीक्षार्थी शामिल होंगे।

बोर्ड चेयरमैन ने समय पर परीक्षा की पूर्ति की जाने की भी बताई है और छात्रों को नकल नहीं करने के लिए सख्ती से चेतावनी दी है।

 

Share This Article
Leave a comment