केले और नींबू की खेती करके ये किसान हुआ मालामाल, कमाता है लाखों रुपए, जानें कैसे

Sahab Ram
2 Min Read

मुकेश यादव आज एक प्रगतिशील किसान माने जाते हैं। वह दो एकड़ में केला, पपीता, अमरूद, कीनू और नींबू की खेती कर सालाना लाखों की कमाई कर रहे हैं।

खेती के नये प्रयोग से आज मुकेश प्रगतिशील किसानों की श्रेणी में खड़े हैं। मुकेश यादव ने अपने खेती के अनुभव में अपनी शिक्षा और प्रशिक्षण का पूरा उपयोग किया है। उन्होंने इंटरनेट का भरपूर उपयोग कर सरकारी योजनाओं को समझा है।

मुकेश यादव ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर बिकने वाली गेहूं और धान की सामान्य फसलों के बजाय फलों और सब्जियों की आधुनिक खेती पर ध्यान केंद्रित किया, उनकी मेहनत भी रंग लाई।

आज मुकेश यादव के खेतों में अमरूद, संतरा, अनार, मूली, गाजर, टमाटर, केला, पपीता, सरसों, पालक, धनिया, मिर्च, शलजम, चुकंदर, प्याज, आलू, मटर, टमाटर, पत्तागोभी, फूलगोभी, मौसमी फसलों का प्रचुर उत्पादन होता है।

पूसा इंस्टीट्यूट के नाम से मशहूर भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के बीजों से खेती करने के लिए मुकेश यादव को दिल्ली में आयोजित कृषि मेले में केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन द्वारा भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान ‘फेलो फार्मर’ पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

मेले में देशभर से कुल सात किसानों को सम्मानित किया गया। आपको बता दें, मुकेश यादव ने 2008 में दिल्ली के पूसा से बीज लेकर खेती शुरू की थी. वह पूसा से 1121 धान के बीज लेते हैं. हर साल वह 44 से 50 एकड़ धान की खेती करते हैं।

उन्होंने एक एकड़ में 15 से 18 क्विंटल प्रति एकड़ 1121 बासमती धान का उत्पादन किया है। इनका धान बाजार में इंडिया गेट बासमती के नाम से बिकता है।

इसी प्रकार उन्होंने पूसा गेहूं के बीज एच-2851, एचडी-2967, डब्ल्यूएच-711, पीबीडब्ल्यू-343, पीबीडब्ल्यू-502, पीबीडब्ल्यू-226 खरीदकर अच्छा उत्पादन प्राप्त किया है। उन्हें गन्ना और दलहन के क्षेत्र में मूंग के उत्पादन के लिए इस पुरस्कार के लिए चुना गया था.

 

Share This Article
Leave a comment