हरियाणा में शादी से कुछ देर पहले मेडिकल करवाने पहुंचा दूल्हा, उसके बाद लिए फेरे, जानिए क्या है पूरा मामला

Sahab Ram
3 Min Read

 

 

Yuva Haryana : हरियाणा के हिसार जिले में एक अनोखी शादी चर्चा का विषय बनी हुई है, जिसमें एक दूल्हा ने अपनी दुल्हन के साथ सात फेरों की रस्म संपन्न करने से पहले अपना मेडिकल जांच करवाई ,और इस शादी ने दहेज के खिलाफ एक अहम संदेश भी दिया है।

हरियाणा के हिसार में ग्रुप-डी की भर्ती में चयनित होने वाले कैंडिडेट्स के घरों में खुशी का माहौल है. शादी के 2 दिन पहले अगर किसी को नौकरी का तोहफा मिले तो खुशी दोगुनी हो जाती है. ऐसा कुछ हिसार के हसनगढ़ गांव के 31 साल के पवन के साथ हुआ।  शादी के 2 दिन पहले ही उसका नौकरी का लेटर आ गया। पवन घुड़चढ़ी से पहले मेडिकल जांच करवाने पहुंचे और इसके बाद उसने दुल्हन के साथ फेरे लिए। पवन को 2 खुशियां एक साथ मिलने से घर में जश्न का माहौल बना है।

शादी का यह अनोखा प्रस्ताव हरियाणा के हसनगढ़ गांव के 31 साल के पवन ने किया। पवन का परिवार मजदूरी करने वाला है, और उनके परिवार में अब तक किसी भी सरकारी नौकरी में कोई सदस्य नहीं था। पवन ने शादी की दूसरी ओर, उसकी पत्नी पूनम हिसार की गीता कॉलोनी की रहने वाली हैं और उनके पिता चाय विक्रेता हैं।
हिसार के हसनगढ़ गांव के रहने वाले पवन की 11 मार्च को शादी थी। उसने ग्रुप डी भर्ती के लिए पेपर दिया था, जिसका 8 मार्च की रात को रिजल्ट आ गया औरक इसमें पवन का नाम भी शामिल था।
पवन की शादी के 2 दिन पहले ही उसको ग्रुप-डी की भर्ती में सफलता मिली, और उसकी नौकरी का लेटर आया। इस खुशी के मौके पर पवन ने दुल्हन के साथ सात फेरों की रस्म संपन्न की। पवन ने शादी के दिन घोड़ी चढ़ने से पहले मेडिकल करवाने के लिए अस्पताल पहुंचा, और फिर उसने अपनी दुल्हन के साथ विवाह की रस्म संपन्न की।
पवन ने बिना दहेज के शादी कर मिसाल भी पेश की है. उसके माता-पिता मजदूरी करते हैं। वह दो भाई और दो बहनें है, जो पढ़ाई कर रही हैं। परिवार में अब तक कोई भी सरकारी नौकरी में नहीं था। पवन की पत्नी पूनम हिसार की गीता कॉलोनी की रहने वाली है।पूनम के पिता चाय का काम करते हैं. उसने एमए-बीएड तक पढ़ाई कर रखी है।

Share This Article
Leave a comment