हरियाणा में विदेश में नौकरी के झांसे में फंसे सात युवाओं की हालात गंभीर, एक के पैर में लगी गोली

Sahab Ram
2 Min Read

 

 

 

Yuva Haryana: हरियाणा के कैथल जिले में भारतीय युवाओं को विदेश में लुभाकर मोटी सैलरी वाली नौकरी का वादा कर धोखा देकर उन्हें रूस-यूक्रेन युद्ध में फंसाया गया है। सात युवाओं के परिवार वालों का आरोप है कि नौकरी के नाम पर एजेंट ने लाखों रुपए लिए और उनके बच्चों को विदेश भेज दिया, जहां उन्हें युद्ध में फंसा दिया गया।

यह घटना उस समय की है जब भारतीयों को विदेश में रोजगार की तलाश है। बेरोजगारी की समस्या से परेशान युवा अपने भविष्य को सुरक्षित और आर्थिक रूप से स्थिर बनाने के लिए इस तरह की नौकरी के लिए आकर्षित हो जाते हैं।

इस मामले में, कैथल के रहने वाले सात युवाओं को एक एजेंट ने विदेश में रोजगार का झांसा देककर धोखा दिया। उनके परिवार वाले बताते हैं कि एजेंट ने नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों रुपए लिए और उनके बच्चों को विदेश भेज दिया, जहां वे फिर युद्ध में फंस गए।

कैथल जिले के मटौर गांव के भाग सिंह के बेटे साहिल को भी विदेश भेज दिया गया, जहां उसे रूस-यूक्रेन युद्ध में फंसाया गया। उसके पिता भाग सिंह ने बताया कि उन्हें एजेंट ने दस लाख रुपए लेकर उनके बेटे को रूस और यूक्रेन युद्ध में भेज दिया। उन्होंने बताया कि उसके बेटे को गोली लगी है और अस्पताल में भर्ती है।

अन्य युवाओं के परिवार वाले भी अपने बच्चों के वापसी की गुहार लगा रहे हैं। उनका कहना है कि एजेंटों ने उनसे लाखों रुपए लिए और उनके बच्चों को विदेश भेजा, जहां उन्हें सिर्फ सामान लोड और अनलोड करने का कहा गया था। लेकिन वहां पहुंचने के बाद उन्हें युद्ध में फंसा दिया गया।

इस घटना के बाद, परिवार वाले सरकार से अपील कर रहे हैं कि वे जल्द से जल्द अपने बच्चों को स्वदेश लाने की कार्रवाई करें और उन्हें न्याय दिलाएं।

Share This Article
Leave a comment