हरियाणा में किसानों के लिए झटका ,इतने रुपए प्रति क्विंटल सस्ती बिक रही है सरसों

Sahab Ram
2 Min Read

 

Yuva Haryana : हरियाणा के किसानों के लिए एक बुरी खबर आई है। जैसा कि प्रदेश सरकार ने सरसों और गेहूं की खरीद को लेकर बड़ा ऐलान किया है, लेकिन मंडी प्रबंधन द्वारा कोई भी दिशा-निर्देश जारी नहीं किए गए हैं।

इसके चलते मंडी में सरसों लेकर आ रहे किसानों को 550 रुपए से 750 रुपए प्रति क्विंटल तक का नुकसान उठाना पड़ रहा है।

बताया जा रहा है कि सरसों की खरीद 28 मार्च से शुरू होगी, लेकिन अभी तक कोई भी स्पष्टता मंडी प्रबंधन द्वारा नहीं दी गई है। इस वजह से किसानों को उचित दाम नहीं मिल रहे हैं और वे नुकसान उठा रहे हैं।

जींद अनाज मंडी में 1000 क्विंटल सरसों की आवक हो चुकी है, लेकिन अभी तक सरकारी खरीद शुरू नहीं हुई है।

किसानों को उनकी फसलों का ना तो उचित दाम मिल रहा है, और ना ही उनके नुकसान की भरपाई हो रही है। सरसों का न्यूनतम समर्थन मूल्य 5650 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है, लेकिन मंडी में यह 4800 से 5100 रुपए प्रति क्विंटल के भाव पर ही खरीदी जा रही है।

कुछ दिन पहले हुई तेज बारिश और ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को नुकसान हुआ है। इसके अलावा, जींद में किसानों को एसपी ना मिलने से उन्हें नुकसान उठाना पड़ रहा है।

किसान समुदाय के बीच इस मुद्दे पर उम्मीद है कि सरकार जल्दी से उचित कदम उठाएगी और किसानों को उचित मूल्य पर उनकी फसलें खरीदेगी।

Share This Article
Leave a comment