हरियाणा सरकार की नई पहल,KMP एक्सप्रेसवे के किनारे बसेंगे दो नए शहर ,ये रहेगा नाम

Sahab Ram
3 Min Read

 

Yuva haryana : हरियाणा सरकार ने कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेसवे के किनारे दो नए शहरों की योजना बनाने का ऐलान किया है। इन शहरों का नाम सिटी ऑफ हैप्पीनेस और सिटी ऑफ जॉय रखा गया है।

इस परियोजना के अंतर्गत, शहरों में आवासीय और व्यापारिक गतिविधियों को समर्थन करने का प्रयास किया जा रहा है। हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि इस परियोजना का पहला चरण शुरू हो चुका है, जिसमें दो शहरों का निर्माण होगा।

पहला शहर खरखौदा-सोनीपत रोड पर बनेगा, जबकि दूसरा शहर पलवल-फरीदाबाद-जेवर रोड पर बनना प्रस्तावित है। इन शहरों को बनाने के लिए सरकार ने सिंगापुर की एक कंपनी को डीपीआर तैयार करने के लिए कॉन्ट्रैक्ट दिया है।

इसके अलावा, इन शहरों के लिए मास्टर प्लान भी तैयार किया गया है, जिसमें सिंगापुर और दुबई की तर्ज पर नियोजित विकास की योजना है।

दुष्यंत चौटाला ने बताया कि इन शहरों में इको फ्रेंडली गतिविधियां होंगी और हर सेक्टर में शॉपिंग मॉल, अंडरपास, और एलिवेटेड रोड होंगे। इसके साथ ही, पैदल और साइकिल ट्रैक का निर्माण भी होगा।

इन शहरों में विश्वविद्यालय और आधुनिक सुविधाएं भी होंगी, जो इसे एक आदर्श नगर बनाएंगी। इसमें ई-वीकल और सौर ऊर्जा को प्राथमिकता दी जाएगी।

इस परियोजना से नए शहरों के विकास के साथ-साथ हरियाणा में औद्योगिक निवेश को बढ़ावा मिलेगा। सरकार ने पहले बहादुरगढ़ के पास, सोनीपत क्षेत्र में कुंडली से लेकर खरखौदा के बीच, सोहना के आसपास, पलवल के आसपास, और मानेसर के आसपास करीब 50-50 हजार हेक्टेयर जमीन पर नए शहर विकसित करने की योजना बनाई थी।

यह परियोजना हरियाणा को एक नए और विकसित रूप में प्रस्तुत करने का उद्देश्य रखती है।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि पहले चरण में दो शहरों का निर्माण हो रहा है, उन्होंने बताया कि केएमपी के बगल 25 किलोमीटर के दायरे में ये शहर बसेंगे।

ये शहर रिहायशी के साथ-साथ कमर्शल गतिविधियों के बड़े केंद्र के रूप में विकसित किए जाएंगे। दुष्यंत ने बताया कि इन शहरों में सिंगापुर और दुबई की तर्ज पर नियोजित विकास होगा।

 

Share This Article
Leave a comment