एल्विश यादव केस में नई अपडेट, 27 मार्च को सुनवाई की तारीख तय

Sahab Ram
3 Min Read

 

Yuva haryana: नोएडा जेल में बंद यूट्यूबर एल्विश यादव की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। उनके खिलाफ गिरफ्तारी के बाद, अब गुरुग्राम की एक अदालत में उनकी सुनवाई होगी। यह मामला सेगर ठाकुर उर्फ मैक्सटर्न के साथ जुड़े मारपीट के मामले में है।

नोएडा पुलिस ने एल्विश यादव को 17 मार्च को गिरफ्तार किया था, और अब उन्हें 27 मार्च को गुरुग्राम की एक अदालत में पेश किया जाएगा। गुरुग्राम के प्रथम श्रेणी के न्यायिक मजिस्ट्रेट हर्ष कुमार की अदालत ने उन्हें पेश होने की तिथि तय की है।

नोएडा पुलिस के मुताबिक, एल्विश यादव को एक वीडियो में सेगर ठाकुर की पिटाई करते हुए देखा गया था। उसे मैक्सटर्न के नाम से भी जाना जाता है। यह घटना के बाद सेगर ठाकुर ने पुलिस से संपर्क किया और एल्विश यादव और अन्य लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

गुरुग्राम के सेक्टर-53 के थाना प्रभारी राजेंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस ने उनके प्रोडक्शन वारंट की मांग करते हुए बुधवार को अदालत में एक आवेदन दायर किया था।

नोएडा पुलिस ने एल्विश यादव के खिलाफ एनडीपीएस की छह धाराओं को लगाया था, जिनमें से कोर्ट ने दो धाराओं को हटा दिया है। अब उन पर चार धाराएं ही लागू होंगी।

एल्विश यादव को दायर की गई बेल याचिका पर कोर्ट ने कहा है कि नई याचिका दायर की जाएगी। यहां उनकी विचाराधीनता की तारीख तय की गई है, और उन्हें गुरुग्राम पुलिस की रिमांड पर लेने का आदेश दिया गया है।

इधर, नोएडा पुलिस ने एनडीपीएस की जिन 6 धाराओं को एलविश यादव की एफआईआर में बढ़ाया था, इनमें से दो धाराओं को सूरजपुर कोर्ट ने हटा दिया है. अब एनडीपीएस की चार धाराएं ही एल्विश पर लगी रहेंगी।

एल्विश यादव के लिए दायर की गई बेल याचिका पर कोर्ट ने कहा कि नई याचिका दायर की जाए. पुलिस ने एफआईआर में जिन धाराओं को बढ़ाया था उनमें से कोर्ट ने एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/22/29/30/32 को माना है और साथ ही धारा 27/27 ए को कोर्ट ने नहीं माना।

ये धाराएं एल्विश के ऊपर से हटा दी गईं है। हालांकि, स्पेशल एनडीपीएस एक्ट 29 अभी नहीं हटी है, जिसमें बड़ी सजा का प्रावधान है।

Share This Article
Leave a comment