Jind News: हरियाणा के इस जिलों को मिली 2 बड़ी सड़क परियोजनाओं की सौगात, जल्दी जानें

Sahab Ram
3 Min Read

वन विभाग को फरीदाबाद में 37 एकड़ जमीन मिलने से जींद जिले में एक स्टेट हाईवे की चौड़ाई बढ़ाने और दूसरे हाईवे के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। इसके बाद अब जींद-सफीदों स्टेट हाईवे की चौड़ाई 7 मीटर से बढ़ाकर 10 मीटर करने के निर्माण कार्य की आखिरी बाधा दूर हो गई है।

इससे जिले के नरवाना क्षेत्र में राजावाली गोहर पर कंक्रीट सड़क के निर्माण का रास्ता भी साफ हो गया है। सीएम मनोहर लाल ने वर्ष 2021 में जींद-सफीदों स्टेट हाईवे की चौड़ाई 7 मीटर से बढ़ाकर 10 मीटर करने की घोषणा की थी। इस स्टेट हाईवे की चौड़ाई बढ़ाने के लिए लोक निर्माण विभाग ने वन विभाग से करीब 6700 कटिंग के लिए एनओसी मांगी थी। जींद और सफीदों के बीच हरे पेड़।

एनओसी देने के लिए वन विभाग ने लोक निर्माण विभाग से करीब 27 एकड़ जमीन की मांग की थी. जींद में लोक निर्माण विभाग के पास वन विभाग को पौधारोपण के लिए देने के लिए 27 एकड़ जमीन ही उपलब्ध नहीं है। इसी तरह नरवाना में राजवाली गोहर को पक्का करने की राह में बड़ी संख्या में हरे-भरे पेड़ बाधा बन रहे थे।

लोक निर्माण विभाग ने इन पेड़ों को काटने के लिए वन विभाग से एनओसी भी मांगी थी। यहां भी एनओसी के लिए वन विभाग ने लोक निर्माण विभाग पर करीब 10 एकड़ जमीन पौधारोपण के लिए देने की शर्त लगा दी थी।

फ़रीदाबाद में ज़मीन मिल गई
अब जींद जिले में जींद-सफीदों स्टेट हाईवे की चौड़ाई बढ़ाने और नरवाना के राजावाले गोहर पर पक्की सड़क बनाने के लिए काटे जाने वाले पेड़ों की भरपाई के लिए वन विभाग को फरीदाबाद में 37 एकड़ जमीन मिल गई है।

फरीदाबाद की इस जमीन पर वन विभाग पौधारोपण कर जींद जिले में जींद-सफीदों स्टेट हाईवे और नरवाना के राजावाली गोहर पर पक्की सड़क बनाने के लिए काटे जा रहे हरे पेड़ों से होने वाली हरियाली के नुकसान की भरपाई करेगा।

जींद में लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता राजकुमार नैन ने बताया कि वन विभाग को फरीदाबाद में 37 एकड़ जमीन मिल गई है. यह जमीन जींद-सफीदों स्टेट हाईवे की चौड़ाई 7 मीटर से बढ़ाकर 10 मीटर करने के लिए हजारों पेड़ काटने के एवज में मिली थी।

अब लोक निर्माण विभाग को जल्द ही नरवाना के राजावाली गोहर पर खड़े पेड़ों को काटने के लिए वन विभाग से एनओसी मिल जाएगी।

जींद प्रशासन ने जींद-सफीदों स्टेट हाईवे की चौड़ाई बढ़ाने के लिए करीब 27 एकड़ जमीन वन विभाग को पौधारोपण के लिए देने की पूरी कोशिश की। इसके तहत जींद के दो गांवों में जमीन की तलाश की गई, लेकिन बात नहीं बन पाई।

 

Share This Article
Leave a comment