JBM Bus: हरियाणा की सड़कों पर उतरीं जेबीएम ऑटो की इकोलाइफ इलैक्ट्रिक बसें, देखें क्या-क्या मिलेगी सुविधाएं

Sahab Ram
4 Min Read

 

JBM Auto Electric Buses: अंतरराष्ट्रीय CO2 उत्सर्जन कटौती दिवस के अवसर पर, हरियाणा के माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज राज्य में पानीपत बस डिपो से 5 इकोलाइफ इलैक्ट्रिक बसों को झंडी दिखाकर रवाना किया।

हरियाणा के बस निर्माता जेबीएम ऑटो ने इन 100% इलैक्ट्रिक बसों को उपलब्ध कराया है और यह पहला अवसर है जबकि राज्य में ये बसें सार्वजनिक परिवहन के तौर पर इस्तेमाल में लायी जाएंगी। इस समारोह में कई गणमान्य पदाधिकारियों के अलावा सरकारी अधिकारीगण तथा उद्योग से जुड़े कई दिग्गज उपस्थित थे।

जेबीएम ऑटो हरियाणा में नेशनल इलैक्ट्रिक बस प्रोग्राम के तहत् 375 इलैक्ट्रिक बसें उपलब्ध कराएगी। इन बसों के सुगम संचालन के लिए जेबीएम ऑटो ने डिपो में एंड-टू-एंड इलैक्ट्रिक बस इकोसिस्टम स्थापित किया है जिनमें पावर और चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर शामिल हैं।

इसके अलावा, जेबीएम ऑटो ने हाल ही में हरियाणा में सबसे बड़ा इलैक्ट्रिक बस निर्माण संयंत्र भी स्थापित किया है जिसमें हर साल 20,000 इलैक्ट्रिक बसों का निर्माण किया जा सकता है।

जेबीएम इकोलाइफ इलैक्ट्रिक बसें जीरो एमिशन व्हीकल (ZEV) यानि उत्सर्जन मुक्त वाहन हैं जिनका निर्माण जेबीएम ऑटो लिमिटेड द्वारा किया गया है। ये बसें अगले 10 वर्षों में संचालन के दौरान, CO2 उत्सर्जन में करीब 1000 टन के समकक्ष और 420,000 लीटर डीज़ल की बचत करेंगी।

इन बसों में फास्ट चार्जिंग लीथियम-आयन बैटरियों का प्रयोग किया गया है और इनमें सभी आधुनिक फीचर्स जैसे रियल टाइम पैसेंजर इंफॉरमेशन सिस्टम (पीआईएस), आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए पैनिक बटन, ऑटोमेटिक बस व्हीकल लोकेशन सिस्टम, सीसीटीवी कैमरे, पब्लिक एड्रैस सिस्टम, स्टॉप रिक्वेस्ट बटन आदि को जोड़ा गया है।

रियल टाइम पैसेंजर इंफॉरमेशन सिस्टम के चलते, बस में सफर करने वाले यात्रियों को बसों की लोकेशन की जानकारी मिलती रहेगी।

इसी तरह, बसों में लगाए गए सीसीटीवी कैमरों की मदद से बसों के भीतर की गतिविधियों पर नज़र रखी जा सकेगी। यात्री अपने आगामी बस स्टॉप पर बस को रोकने का ड्राइवर से अनुरोध करने के लिए स्टॉप बटन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

जेबीएम इकोलइफ बस में अन्य कई फीचर्स जैसे व्हीकल हैल्थ मॉनिटरिंग सिस्टम, फायर डिटेक्शन और अलार्म सिस्टम, पब्लिक एड्रैस सिस्टम आदि भी हैं। ड्राइवरों की सुविधा के लिए बसों में एरगॉनॉमी के डिजाइन के मुताबिक ड्राइवर कंसोल की व्यवस्था की गई है और जो इन्ट्यूटिव और यूज़र-फ्रैंडली सिस्टम है ताकि ड्राइवर बिना किसी व्यवधान के ड्राइविंग पर फोकस कर सकें और इस तरह ये बसें सही मायने में ग्लोबल प्रोडक्ट हैं।

हरियाणा परिवहन विभाग ने ‘हरियाणा सिटी बस सर्विसेज़ लिमिटेड’ नाम से एक अलग निगम का गठन किया है जो पंचकुला, अंबाला, सोनीपत, रेवाड़ी, यमुना नगर, पानीपत, रोहतक और हिसार में सिटी बस सेवाओं का प्रबंधन और संचालन करेगा।

सीईएसएल द्वारा नेशनल इलैक्ट्रिक बस प्रोग्राम के तहत् ग्लोबल टेंडर जारी करने के बाद, 375, इलैक्ट्रिक एसी 12 मीटर बसों के आदेश जारी किए गए थे जिन्हें इन परिचालनों के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

इस लॉन्च के साथ ही, जेबीएम ऑटो ने ग्रीन और सस्टेनेबल पब्लिक मोबिलिटी सॉल्यूशंस के हरियाणा के मिशन से नाता जोड़ा है। संगठन ने जलवायु परिवर्तन से निपटने के वैश्विक स्तर पर जारी प्रयासों के अंतर्गत राज्य के कार्यक्रमों के प्रति प्रतिबद्धता जतायी है।

 

Share This Article
Leave a comment