श्रीलंका में जन-जन तक पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेश पहुंचाने के लिए पहली मार्च से होगा अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का आयोजन

Sahab Ram
2 Min Read

Yuva haryana – कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड (केडीबी) की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) डा. वैशाली शर्मा ने कहा कि कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के सहयोग से श्रीलंका में पहली से 3 मार्च, 2024 तक अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इस महोत्सव के माध्यम से पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेश जन-जन तक पहुंचेंगे। इस महोत्सव में प्रदर्शनी, पुस्तक मेला, शिल्प बाजार, सेमिनार, महायज्ञ और सांस्कृतिक कार्यक्रम मुख्य आकर्षण का केंद्र रहेंगे। इस महोत्सव के बाद भारतीय प्रतिनिधिमंडल द्वारा श्रीलंका की संसद में पवित्र ग्रंथ गीता को भी भेंट किया जाएगा।

इस बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि पहली मार्च श्रीलंका में अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव के पहले दिन नील्लम पोकुना थियेटर के पास कोलंबो स्कूल के विद्यार्थियों के बीच रंगोली प्रतियोगिता, कोलंबो स्कूल के विद्यार्थियों के बीच आर्ट और महाभारत पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम, एक्जीबिशन, शिल्प बाजार और पुस्तक मेले का, सायं छ: बजे महा यज्ञ, श्रीलंका ट्री फोर्सिस की तरफ से सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा रात को नाडा म्यूजिकल शो का आयोजन होगा।

उन्होंने बताया कि 2 मार्च को प्रदर्शनी, शिल्प बाजार और पुस्तक मेला पर्यटकों के लिए खुलेगा, पवित्र ग्रंथ गीता की पर सेमिनार, सांस्कृतिक कार्यक्रम, अंतर्राष्ट्रीय गीता डीकोर्स, डिपार्टमेंट ऑफ हिंदू अफेयर्स की तरफ से एसवीसीसी स्टेट डांसिंग और म्यूजिक के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति होगी।

उन्होंने कहा कि 3 मार्च को महा यज्ञ,सद्भावना यात्रा व गीता महाआरती का आयोजन होगा। उन्होंने कहा कि 4 मार्च श्रीलंका की संसद में भारतीय प्रतिनिधिमंडल द्वारा श्रीमद भगवद गीता भेंट की जाएगी।

Share This Article
Leave a comment