हरियाणा के मोहित को PM से मिलेगा सम्मान,सॉफ्टवेयर तैयार कर बनाई पहचान

Sahab Ram
3 Min Read

Rajasthan news: राजस्थान में 20 आरपीएस के तबादले, 2 अधिकारियों को एपीओ किया गया, देखें पूरी लिस्ट

Yuva haryana: हरियाणा से चरखी दादरी जिले के गांव भागेश्वरी के मोहित यादव ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर तैयार किया है जो गाड़ी में इंस्टॉल करने के बाद दुर्घटनाओं को रोकने में मदद करेगा । इस सॉफ्टवेयर में कई फीचर्स हैं जो गाड़ी को सुरक्षित बनाते हैं।

मोहित को इस इनोवेशन के लिए दिल्ली में आयोजित होने वाले एशिया स्टार्टअप महाकुंभ में राष्ट्रीय स्तर पर बेस्ट स्टार्टअप ऑफ द ईयर 2024 अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा। मोहित के सॉफ्टवेयर से टाटा मोटर्स, गूगल और नासा भी प्रभावित हैं।

मोहित यादव चरखी दादरी जिले के गांव भागेश्वरी के रहने वाले हैं। उन्होंने वर्ष 2023 में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में बीटेक की है। उन्होंने वर्ष 2019 में सॉफ्टवेयर बनाने की तैयारी शुरू की थी।

वर्ष 2022 में उन्होंने यह सॉफ्टवेयर तैयार किया। मोहित के नाम 80 पेटेंट दर्ज हैं जिनमें से 24 को मान्यता मिल चुकी है।

सॉफ्टवेयर की विशेषताएं:
गाड़ी स्टार्ट करने के लिए सीट बेल्ट लगाना अनिवार्य होगा। यदि ड्राइवर ने शराब पी है तो गाड़ी स्टार्ट नहीं होगी। गाड़ी में लगे सेंसर आसपास के वाहनों और बाधाओं से टक्कर से बचने में मदद करेंगे। गाड़ी की गति सीमा निर्धारित की जा सकती है।

मोहित को 28 से 30 जून तक दिल्ली में आयोजित होने वाले एशिया स्टार्टअप महाकुंभ में राष्ट्रीय स्तर पर बेस्ट स्टार्टअप ऑफ द ईयर 2024 अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा। इस साॅफ्टवेयर में ऐसे फीचर्स हैं जो गाड़ी को काफी हद तक सुरक्षित बना देंगे। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी इस सॉफ्टवेयर की तारीफ कर चुके  है ।उन्हें चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी भी सम्मानित कर चुकी है।

मोहित का कहना है कि वो खुद की कंपनी बनाने चाहते हैं। वह ऐसी गाड़ी बनाना चाहते हैं जो सभी सुविधाओं के साथ सुरक्षा के मानकों पर खरी उतरे। यह रो पिल्स नाम की गाड़ी हाइब्रिड होगी, जो पेट्रोल, डीजल, हाइड्रोजन व बिजली से चल सकेगी।

यह गाड़ी 50 से 60 प्रतिशत तक पेट्रोल डीजल को रिसाइकिल करेगी। यदि किसी भी प्रकार से हादसा होता है तो अपने आप पुलिस, एंबुलेंस, अस्पताल को सूचित करेगी।

लैब में हो रही सॉफ्टवेयर की टेस्टिंग

मोहित की सेमिनार में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से दो बार बातचीत हुई हैं। इतना ही नहीं इस सॉफ्टवेयर की लैब में टेस्टिंग हो रही है, जिसमें पहला टेस्ट पास हो गया है। अगर दूसरा टेस्ट भी पास हो जाता है तो मंत्री ने आश्वासन दिया है कि भारत की सभी गाड़ियों में इसे इंस्टॉल करवाया जाएगा।

Share This Article
Leave a comment