Haryana News: हरियाणा के युवाओं के लिए खुशखबरी! प्राइवेट नौकरियों के लिए हरियाणा के बाहर भी मिलेगा आरक्षण, जानें पूरी खबर

Sahab Ram
3 Min Read

राज्य के उद्योगों की नौकरियों में हरियाणा के युवाओं को 75 फीसदी आरक्षण देने पर पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट की रोक को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है.

राज्य सरकार ने कहा है कि राज्य के युवाओं को उनका हक दिलाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में मजबूत पैरवी की जायेगी. इसके लिए भारत सरकार के सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता सुप्रीम कोर्ट में हरियाणा सरकार का पक्ष रखेंगे.

इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में 6 फरवरी को सुनवाई होने की संभावना है. हरियाणा सरकार के उस कानून को हाई कोर्ट ने रद्द कर दिया, जिसमें राज्य के युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण देने का प्रावधान है.

यह वादा जननायक जनता पार्टी के चुनावी घोषणापत्र में था और भारतीय जनता पार्टी भी इससे सहमत है. इसी चुनावी वादे के आधार पर जेजेपी को विधानसभा में युवाओं का वोट मिला.

रविवार को चंडीगढ़ में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्राइवेट नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण रोजगार कानून और राज्य व उद्योगों के हित को ध्यान में रखते हुए किया गया है. हमने हाई कोर्ट के फैसले का अध्ययन किया है.

हाई कोर्ट ने जो भी आपत्तियां उठाई हैं, उन पर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से चर्चा की गई है. हमें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट में फैसला हरियाणा के पक्ष में आएगा.

हाई कोर्ट ने अपने 83 पन्नों के फैसले में हरियाणा राज्य स्थानीय उम्मीदवारों के रोजगार अधिनियम 2020 को असंवैधानिक करार दिया है। हरियाणा सरकार ने 15 जनवरी 2022 को कानून लागू करते हुए कहा था कि राज्य के लोगों को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी तक आरक्षण दिया जाएगा. इसमें 30 हजार रुपये तक सैलरी देने वाली नौकरियां शामिल थीं.

कानून से सभी उद्योगपति सहमत:दुष्यंत चौटाला
दुष्यंत चौटाला की ओर से कहा गया कि इस कानून से सभी उद्योगपति सहमत हैं, क्योंकि राज्य के उद्योगों में स्थानीय कुशल युवाओं का होना जरूरी है. कानून बनाने के पीछे सरकार का मकसद स्थानीय युवाओं को रोजगार मुहैया कराना बताया गया था।

लेकिन बाद में सरकार के इस फैसले को फरीदाबाद और गुरुग्राम के उद्योगपतियों ने हाई कोर्ट में चुनौती दी थी, जिसकी सुनवाई के बाद हाई कोर्ट ने सरकार के कानून को रद्द कर दिया था।

 

 

Share This Article
Leave a comment