अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत गुरुग्राम रेलवे स्टेशन का होगा कायाकल्प, आधुनिक टच के साथ दी जाएंगी विश्वस्तरीय सुविधाएं

Sahab Ram
5 Min Read

Yuva haryana – अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत देश के रेलवे स्टेशनों का व्यापक कायाकल्प करते हुए उन्हें आधुनिक टच दिया जा रहा है। अमृत काल की इस विकास यात्रा में अब गुरूग्राम रेलवे स्टेशन का नाम भी जुड़ गया है। योजना के तहत गुरूग्राम रेलवे स्टेशन का करीब 300 करोड़ की लागत से कायाकल्प होने जा रहा है। स्टेशन बिल्डिंग के डिजाइन में स्थानीय संस्कृति, विरासत और वास्तुकला की झलक व रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सार्वभौमिक पहुँच सुनिश्चित कर उन्हें आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

सोमवार को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश के 554 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास व 1500 रोड ओवरब्रिज व अंडरपास सहित गुरुग्राम रेलवे स्टेशन पर पुनर्विकास के तहत किए जाने वाले विकास कार्यों का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शिलान्यास किया। इस दौरान रेलवे स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह व गुरूग्राम के विधायक सुधीर सिंगला उपस्थित रहे। कार्यक्रम में अमृत भारत स्टेशन योजना के राष्ट्रीय समारोह से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन का वर्चुअली प्रसारण भी किया गया था।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय राज्यमंत्री एवं गुरूग्राम के सांसद राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि पिछले 10 वर्षो से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में रेलवे विकास को नई गति दी जा रही है। उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों में यह प्रथा रही थी कि रेलवे का अधिकतम बजट रेल मंत्री के क्षेत्र अथवा उनके राज्यों में खर्च होता था। जिससे हरियाणा जैसे राज्य अछूते रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस सोच को बदलते हुए देश मे रेलवे के विकास को समान रूप से आगे बढ़ाया है। आज हरियाणा में 20 हजार करोड़ रेलवे परियोजनाओं पर काम चल रहा है। वहीं केंद्र सरकार के टेंपरेरी बजट में भी रेल विकास के लिए 2 हजार 750 करोड़ का तोहफा हरियाणा राज्य को मिला है। उन्होंने कहा की केंद्र सरकार ने एक नई पहल करते हुए रेलवे बजट को फाइनेंस डिपार्टमेंट के साथ जोड़ा है। आज देश में दुगनी गति से नए रेलवे स्टेशनों का निर्माण किया जा रहा है। वहीं पुराने रेलवे स्टेशनों का भी कायाकल्प करते हुए उनसे आधुनिक रूप दिया जा रहा है।

अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत गुरुग्राम रेलवे स्टेशन पर प्रस्तावित विकास कार्य

राव इंद्रजीत ने कहा कि भारतीय रेलवे के महत्वाकांक्षी रेलवे स्टेशन पुनर्विकास कार्यक्रम के तहत, उत्तर रेलवे के अधिकार क्षेत्र में आने वाले गुरुग्राम रेलवे स्टेशन को वाहनों और यात्रियों के लिए आवागमन में आसानी, नई वास्तुकला, विश्व स्तरीय अनुभव प्रदान करने वाली अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ प्रमुख उन्नयन के लिए चुना गया है। उन्होंने बताया कि गुरुग्राम रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास परियोजना में एक नए मुख्य स्टेशन भवन (ग्राउंड प्लस आठ मंजिला) और एक छत के साथ एक छत प्लाजा/एयर कॉनकोर्स के निर्माण किया जाएगा। रूफ प्लाजा ट्रैक के दोनों ओर से जुड़ेगा और इस प्रकार प्राथमिक के साथ-साथ द्वितीयक ओर से भी प्रवेश प्रदान करेगा।

इस परियोजना में सड़क पर सुगम आवागमन व प्रस्थान, पिक एंड ड्रॉप पॉइंट, कैनोपी, हरित स्थान सहित स्टेशन का बाहरी विकास भी किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस 8 मंजिला नए भवन में एक मंजिल पर अत्याधुनिक हाल में यात्रियों के लिए विभिन्न सुविधाएं होंगी। वहीं चार मंजिल को कमर्शियल रूप में इस्तेमाल में लाया जाएगा जिसमें कैफेटेरिया जैसी सूविधा मिलेगी। इसके अतिरिक्त तीन मंजिल रेलवे के इस्तेमाल में लायी जाएंगी। उन्होंने कहा कि पार्किंग की भविष्य की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मुख्य स्टेशन भवन के आगमन प्लाजा की ओर एक समर्पित मल्टी लेवल कार पार्किंग (बेसमेंट + स्टिल्ट + 4) की योजना बनाई गई है। इसमें अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी के साथ एकीकृत सुरक्षा प्रणालियाँ भी शामिल हैं। इसके साथ ही राजेंद्रा पार्क की ओर सीमेंट शेड को हटाने का काम सहित अन्य विकास कार्य शामिल है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गुरूग्राम के विधायक सुधीर सिंगला ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह का धन्यवाद कड़ते हुए कहा कि वैश्विक स्तर पर अपनी एक विशेष पहचान रखने वाले गुरूग्राम शहर के रेलवे स्टेशन को कायापलट करने के लिए चुनकर गुरूग्राम को बड़ा तोहफा दिया है। उन्होंने कहा कि गुरूग्राम जिला हरियाणा के साथ साथ रेलवे के लिए भी एक महत्वपूर्ण स्टेशन है। ऐसे में गुरूग्राम रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास से गुरूग्राम के लाखों लोगों निश्चित रूप से बढ़ा लाभ मिलने जा रहा है।

Share This Article
Leave a comment