हरियाणा में गोमांस की होम डिलीवरी पर पुलिस का बड़ा एक्शन, SHO सहित 40 कर्मचारियों का पूरा थाना हुआ सस्पेंड

Sahab Ram
2 Min Read

 

Yuva Haryana: राजस्थान की भाजपा सरकार ने गोमांस तस्करी के खिलाफ कार्रवाई में एक और कदम उठाया है, जिसमें पुलिस ने एक पूरे थाने को सस्पेंड कर दिया है।

हरियाणा में गोमांस की होम डिलीवरी के लिए एक शख्स के गिरफ्तार होने पर, इसके विरोध में शिकायतें दर्ज करने वाले थाने के एसएचओ सहित 40 कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इसमें शिकायत को लेकर लापरवाही का आरोप लगाया जा रहा है।

राजस्थान में भाजपा सरकार ने अपने दो महीने के शासन के दौरान कई बड़ी कार्रवाईयां की हैं और गोतस्करी के मामले में भी कड़ी कार्रवाई की जा रही है।

अलवर के जंगलों में पहाड़ी क्षेत्र में गोमांस की तस्करी करने वाले को पुलिस ने धर दबोचा है और इस मामले में शिकायतें दर्ज करने वाले पुलिसकर्मियों को भी सस्पेंड कर दिया गया है।

गोतस्करी के मामले में गिरफ्तार शख्स को विरोध करने वाले थाने के एसएचओ दिनेश मीणा सहित 40 कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इसमें शिकायत को लेकर लापरवाही का आरोप लगाया जा रहा है और विधिक कार्रवाई के बाद थाना के पूरे स्टाफ को निलंबित किया गया है।

गोमांस तस्करी के मामले में जयपुर आइजी रेंज उमेश चंद्र दत्ता और खैरतल-तिजारा एसपी सुरेंद्र सिंह आर्य ने भी मौके पर पहुंचकर जांच की और सभी प्रमुख कदमों की जानकारी दी।

जयपुर आइजी रेंज उमेश चंद्र दत्ता और खैरतल-तिजारा एसपी सुरेंद्र सिंह आर्य ने भी मौके पर पहुंचकर जांच की और सभी प्रमुख कदमों की जानकारी दी।

जहां कांग्रेस भाजपा के राज में गोतस्करी बढ़ने के आरोप लगा रही है वहीं भाजपा का भी कहना है कि नूंह के साथ लगते विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस जीती है और कांग्रेस ही गोतस्करी को बढ़ावा दे रही है।

अलवर ग्रामीण से जहां नेता प्रतिपक्ष टीका राम जूली विधायक हैं तो रामगढ़ विधानसभा से जुबेर खान और किशनगढ़ बास विधानसभा में भी कांग्रेस के दीपचंद खैरिया विधायक हैं। इसलिए भाजपा अब इसे लोकसभा चुनाव से पहले बड़ा मुद्दा बनाएगी।

 

Share This Article
Leave a comment