हरियाणा पुलिस तथा हरियाणा राज्य नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा नशामुक्ति को लेकर हैकाथॉन का फाइनल राउंड आयोजित

Sahab Ram
5 Min Read

– पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने बतौर मुख्य अतिथि की शिरकत, विजेता प्रतिभागियों को किया सम्मानित

– डीजीपी ने नशामुक्ति का संदेश देते हुए युवाओं का नशे से दूर रहने का किया आह्वान

चंडीगढ़, 4 फरवरी । हरियाणा पुलिस तथा हरियाणा राज्य नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा आज पंचकूला के सेक्टर 14 स्थित राजकीय महिला महाविद्यालय में फाइनल राउंड आयोजित किया गया। इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करते हुए विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया। इस दौरान उन्होंने युवाओ का नशे से दूर रहने का आह्वान किया।

कार्यक्रम में अपने विचार रखते हुए पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने विजेता प्रतिभागियो को अपनी शुभकामनाएं दी और कहा कि पहले के समय में जहां संचार के सीमित साधन होते थे वही आज तकनीक के अलग-अलग प्लेटफार्म संचार के लिए उपलब्ध है और इन पर सूचनाओं की भरमार है। उन्होंने कहा कि हैकाथोन का उद्देश्य तकनीकी तथा गैर तकनीकी प्लेटफार्म के माध्यम से युवाओं को मानसिक रूप से मजबूत करना है ताकि विपरीत परिस्थितियों में भी वे नशे को पूरे आत्मविश्वास के साथ ‘नहीं’ कह सके। उन्होंने कहा कि जीवन में कई उतार-चढ़ाव आते हैं और युवा नशे की लत में पड़ जाते हैं लेकिन इस प्रकार के आयोजन से ऐसे नए-नए आइडियाज पर काम किया गया है कि युवा नशे को लेकर अपनी लक्ष्मण रेखा समझ सके। उन्होंने कहा कि हैकाथोन में रोमांचक तरीकों का इस्तेमाल करते हुए इसके दुष्प्रभावों की जानकारी युवाओं तक पहुंचाने के तरीके तैयार किए गए हैं। उन्होंने हैकाथोन के सफल आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी और कहा कि जल्द ही हरियाणा राज्य नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो तथा हरियाणा पुलिस द्वारा एक अलग थीम के साथ हैकाथोन आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिन टीमों को इस बार सफलता नहीं मिली वे अगले हैकाथोन में फिर से प्रतिभागिता करते हुए अपने आइडियाज लेकर पहुंचे।

कार्यक्रम में अपने विचार रखते हुए अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एचएसएनसीबी ओ पी सिंह ने बताया कि हैकाथॉन के माध्यम से युवाओ को नशा मुक्ति की मुहिम से जोड़ने का प्रयास किया गया है ताकि वे नशे की लत का शिकार न हो। उन्होंने कहा कि आज का युग तकनीक का युग है और तकनीक नशा मुक्ति का संदेश पहुचाने का प्रभावी तरीका है। इस दौरान उन्होंने हरियाणा पुलिस द्वारा नशा मुक्ति को लेकर किए जा रहे कार्यों का भी उल्लेख किया।

हैकाथॉन में आईजी अंबाला सिबाश कबिराज ने अपने विचार रखते हुए कहा कि नशा हमारे समाज के लिए बड़ा खतरा है। युवा तथा नौजवान बच्चों को इसकी गिरफ्त से बचाने के लिए हरियाणा पुलिस द्वारा इसका आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि हैकाथॉन में आने वाले इनोवेटिव आइडियाज को भविष्य में हरियाणा पुलिस द्वारा आईटी कंपनियों के साथ सामंजस्य स्थापित करते हुए लागू किया जाएगा। उन्होंने हैकाथॉन को सफल बनाने के लिए देश भर से आई टीमो का भी आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर डीपी सुमेर प्रताप सिंह ने आए हुए अतिथियों का आभार व्यक्त किया

हैकाथॉन का थीम ‘ रिइन्वेंटिंग कम्युनिकेशन विद द यूथ’ रखा गया था जिसमे देशभर की टीमो ने नशामुक्ति को लेकर प्रोटोटाइप्स/सोल्युशन्स भी प्रस्तुत किए गए। आज आयोजित फाइनल राउंड में प्रत्येक टीम को यह सॉल्यूशंस प्रस्तुत करने के लिए अवसर दिया गया था जिसमे उन्होंने अपने इनोवेटिव आइडियाज पर प्रेजेंटेशन दी। हैकाथॉन में श्री कपूर ने विजेता टीमो को 3 लाख रुपये की राशि भेट करते हुए उनका मनोबल बढ़ाया। प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली टीम को 1.5 लाख रुपये, द्वितीय स्थान पर रहने वाली टीम को 1 लाख रुपये तथा तीसरे स्थान पर रहने वाली टीम को 50 हज़ार रुपये की राशि भेंट की गई।

इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक के अलावा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एचएसएनसीबी ओ पी सिंह, आईजी अम्बाला सिबाश कबिराज, डीसीपी सुमेर प्रताप सिंह, डीसीपी मुकेश मल्होत्रा, एसीपी सुरेंद्र सिंह, एसीपी मनप्रीत सिंह सूदन, नैसकॉम टेक्निकल सॉल्यूशंस के हेड एवं डायरेक्टर सुधांशु मित्तल, चीफ ऑफ़ रिसर्च उषा रंगराजू, हैकटूस्किल नामक संस्था से टेक्निकल ऑफीसर कौशिक राय सहित कई अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Share This Article
Leave a comment