दुष्यंत चौटाला ने जेजेपी पदाधिकारियों के साथ लोकसभा चुनाव पर किया मंथन

Sahab Ram
3 Min Read

लोकसभा चुनाव को लेकर जननायक जनता पार्टी सभी लोकसभा क्षेत्रों के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ मंथन करेगी। इन बैठकों में जेजेपी अपने कार्यकर्ताओं की राय जानेगी और लोकसभा चुनाव की रणनीति तय करेगी। खुद पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं जेजेपी के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दुष्यंत चौटाला लोकसभा स्तर की बैठकें करेंगे। शुक्रवार को दुष्यंत चौटाला चंडीगढ़ में अंबाला और कुरुक्षेत्र लोकसभा के पदाधिकारियों की राय जानेंगे। यह निर्णय वीरवार को चंडीगढ़ स्थित जेजेपी प्रदेश कार्यालय पर दुष्यंत चौटाला की अध्यक्षता में हुई पार्टी पदाधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक में लिया गया। बैठक में दुष्यंत चौटाला व जेजेपी के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने सभी जिला अध्यक्षों और प्रकोष्ठों के प्रभारियों व प्रदेशाध्यक्षों से विचार-विमर्श किया।

बैठक के बाद पत्रकारों से रूबरू होते हुए जेजेपी प्रदेश अध्यक्ष सरदार निशान सिंह ने कहा कि जेजेपी पदाधिकारियों ने नए माहौल को देखते हुए लोकसभा चुनाव को लेकर चर्चा करके पदाधिकारियों के सुझाव लिए है और अब अगले तीन दिन लोकसभा अनुसार भी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की राय ली जाएगी।

बीजेपी-जेजेपी गठबंधन के विषय में निशान सिंह ने कहा गठबंधन टूटने का कारण जेजेपी नहीं है। उन्होंने कहा कि जेजेपी ने बीजेपी के समक्ष भिवानी-महेंद्रगढ़ और हिसार लोकसभा सीट की मांग की थी। यहां तक भाजपा के साथ वार्ता के दौरान जेजेपी ने बिना सीट लिए बुढ़ापा पेंशन 5100 रुपए करने का भी सुझाव रखा था।

सरदार निशान सिंह ने कहा कि जेजेपी ने गठबंधन को लेकर हिसार में हुई नवसंकल्प रैली में सारी स्थिति साफ करते हुए जनता के सामने अपना पक्ष रख दिया है और अब फैसला जनता को करना है।

उन्होंने यह भी कहा कि जेजेपी की हिसार रैली के बाद कार्यकर्ताओं में उत्साह है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आने वाला समय अपने आप बता देगा कि कौन किसके साथ मिला है, हमने सारी स्थिति स्पष्ट कर दी है। इस अवसर पर जेजेपी के राष्ट्रीय संगठन सचिव राजेंद्र लितानी, पूर्व राज्य मंत्री एवं उकलाना से विधायक अनूप धानक, विधायक रामकरण काला, राजस्थान से जेजेपी प्रदेश अध्यक्ष पृथ्वी मील सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेता व पदाधिकारी मौजूद रहे।

Share This Article
Leave a comment