हरियाणा में गैर मान्यता से चल रहे स्कूलों की बढ़ी मुश्किलें, DEO ने स्कूल संचालकों को भेजे आदेश

Sahab Ram
4 Min Read

 

Yuva Haryana आज के समय में शिक्षा के क्षेत्र में गैर मान्यता प्राप्त लोगों ने स्कूलों को एक धंधा बना लिया है। कई बार गैर मान्यता प्राप्त लोग भी स्कूल खोल कर बैठ जाते हैं और लोगों को ठगना शुरू कर देते हैं।

इस सबको देखते हुए अब शिक्षा विभाग ने सख्ती से रुख अपना लिया है। जल्द ही कैथल जिले के 26 स्कूलों पर ताले लटक सकते हैं, जो गैर मान्यता प्राप्त स्कूल चलाने का प्रचलन कर रहे थे।

बता दें कि जिले में लम्बे समय से गैर मान्यता प्राप्त चलाने का एक प्रचलन चला हुआ था। जिससे स्कूल के संचालक स्कूल में शिक्षा के नाम पर अलग-अलग तरीके से मनमर्जी किताबों, वर्दी, खेल के सामान, आई-कार्ड, स्मार्ट क्लास, डायरी आदि के नाम पर स्कूली बच्चों से मोटी फीस वसूल कर रहे थे। बिना मान्यता प्राप्त स्कूल किराए के अलावा ऐसे प्राइवेट परिसर में भी चलाए जा रहें है जिनके पास फायर की एन.ओ.सी ही नही है।

ये सभी स्कूल शहर के गांव, कॉलोनियों में चल रहे हैं जो किसी भी नियम और कानूनों पर खरे नहीं उतरते हैं। इन स्कूलों में कई ऐसे भी हैं, जिनमें सिर्फ 20 से 50 विद्यार्थी ही पढ़ते हैं। इसके अलावा कई स्कूल ऐसे भी हैं, जिनमें 500 से ज्यादा विद्यार्थी पढ़ते हैं। विभाग के पास लगातार इनकी शिकायतें आ रही थी। जिस पर कार्रवाई करने में अधिकारी असमर्थ थे।

लेकिन अब निदेशालय द्वारा तुरंत प्रभाव से गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को बंद करने के आदेशों के बाद जिला शिक्षा अधिकारी भी एक्शन मोड़ में आ गए है। जिनका कहना है कि जल्द ही जिले के दो दर्जन से अधिक स्कूल बंद करवा दिए जायेगें।

जिला शिक्षा अधिकारी सुभाष वर्मा ने बताया कि जिले में 26 ऐसे स्कूल हैं जो बिना मान्यता के चल रहे हैं। विभाग इन स्कूलों के प्रति गंभीर है और इस पर कड़ी कार्रवाई करेगा। सभी गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों के संचालकों को चेतावनी दी गई है कि वे अपने स्कूल बंद करें या तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर दी जाएगी।

इससे पहले उन्होंने अभिभावकों से भी अपील की है कि वे अपने बच्चों को किसी स्कूल में एडमिशन लेने से पहले सुनिश्चित करें कि उस स्कूल की मान्यता है और सभी नियमों का पालन हो रहा है।

जिला शिक्षा अधिकारी सुभाष वर्मा ने बताया कि जिले में 26 ऐसे स्कूल है जो बिना मान्यता के चल रहे हैं. विभाग ऐसे स्कूलों के प्रति गंभीर है।

 

अधिकारियों ने सभी गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों के संचालकों को चेतावनी दी है कि या तो अपने स्कूल रूपी दुकानों को बंद कर ले अथवा विभाग के द्वारा उनके ऊपर एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी। उन्होंने अभिभावकों से भी अपील की, कि किसी भी विद्यालय में अपने बच्चों का एडमिशन (Admission) दिलवाने से पहले उसकी मान्यता के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर ले तथा उसके बाद ही अपने बच्चों का दाखिला करवाए।

Share This Article
Leave a comment