\u0930\u094B\u0939\u0924\u0915 \u0915\u0940 \u0938\u0941\u0928\u093E\u0930\u093F\u092F\u093E \u091C\u0947\u0932 \u0915\u0940 \u092C\u0922\u093C\u093E\u0908 \u0938\u0941\u0930\u0915\u094D\u0937\u093E, 11 \u091C\u0928\u0935\u0930\u0940 \u0915\u094B \u092B\u093F\u0930 \u0906\u0928\u093E \u0939\u0948 \u0930\u093E\u092E \u0930\u0939\u0940\u092E \u092A\u0930 \u092B\u0948\u0938\u0932\u093E

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. सरकार-प्रशासन

रोहतक की सुनारिया जेल की बढ़ाई सुरक्षा, 11 जनवरी को फिर आना है राम रहीम पर फैसला

Deepak Khokhar, Yuva Haryana Rohtak, 07 Jan, 2019 पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में 11 जनवरी को फैसला आने के चलते यहां सुनारिया जेल के इर्द-गिर्द सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। इस हत्याकांड के मामले में सीबीआई कोर्ट ने उसे व्यक्तिगत रूप से पेश करने के...


रोहतक की सुनारिया जेल की बढ़ाई सुरक्षा, 11 जनवरी को फिर आना है राम रहीम पर फैसला
Deepak Khokhar, Yuva Haryana
Rohtak, 07 Jan, 2019
पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में 11 जनवरी को फैसला आने के चलते यहां सुनारिया जेल के इर्द-गिर्द सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। इस हत्याकांड के मामले में सीबीआई कोर्ट ने उसे व्यक्तिगत रूप से पेश करने के आदेश दिए हैं। राम रहीम 25 अगस्त 2017 से इसी जेल में बंद है। उसे दो साध्वियों से यौन शोषण मामले में 20 साल की सजा हुई है।
एसपी जशनदीप सिंह रंधावा का कहना है कि सुरक्षा के लिहाज से हर प्रकार की स्थिति से निपटने के लिए घोड़ा पुलिस, एक पीसीआर और एक राइडर को भी लगाया गया है। इसके अतिरिक्त ड्रोन कैमरे भी से जेल के आस पास की व्यवस्था पर नजर रखी जा रही है  पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर बोहर स्थित नामचर्चा घर की भी चैकिंग की।
हालांकि राम रहीम की पेशी को लेकर एक याचिका भी लगाई गई है। जिसमें वीडियो कांफ्रेंसिंग या फिर सुनारिया जेल में कोर्ट लगाकर फैसला सुनाए जाने की मांग की गई है ताकि किसी प्रकार की अप्रिय घटना न हो। 25 अगस्त 2017 को यौन शोषण मामले में पेशी के दौरान जमकर हिंसक घटनाएं हुई थी। इसके बाद राम रहीम को हेलीकॉप्टर के जरिए सुनारिया जेल भेज दिया गया और फिर 28 अगस्त को जेल में ही कोर्ट लगाकर सजा सुनाई गई थी। 
उधर, सुरक्षा व्यवस्था के लिए सुनारियां जेल के पास चार नाके लगाए गए हैं। जहां पुलिस कर्मी हथियारों के साथ तैनात किए हैं। प्रत्येक वाहन व व्यक्ति की पूछताछ करने और रजिस्टर में नाम दर्ज करने के बाद ही प्रवेश सुनिश्चित किया गया है।  आसपास के क्षेत्र पर नजर रखने के लिए 5 पैट्रोलिंग पार्टियां लगाई गई हैं, जो वहां पर आने जाने वाले व्यक्तियों पर नजर रख रही हैं। सीआईए टीम और खुफिया तंत्र को असमाजिक तत्व और संदिग्ध व्यक्ति पर निगरानी रखने की जिम्मेवारी सौपी गई है।