\u0930\u094B\u0939\u0924\u0915 \u0915\u0947 \u0924\u0940\u0928 \u0917\u093E\u0902\u0935 \u0915\u0902\u091F\u094B\u0928\u092E\u0947\u0902\u091F \u091C\u094B\u0928 \u092E\u0947\u0902 \u0936\u093E\u092E\u093F\u0932

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. सरकार-प्रशासन

रोहतक के तीन गांव कंटोनमेंट जोन में शामिल

Yuva Haryana, Rohtak जिला के तीन गांवों में कोरोना पॉजिटिव मामलें पाये जाने पर जिला मैजिस्ट्रेट आर एस वर्मा ने डिस्ट्रिक्ट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) की सिफारिश पर दा हरियाणा महामारी कोविड-19 अधिनियम 2020, महामारी अधिनियम 1897 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत शक्तियों का प्रयोग करते हुए जिला...


रोहतक के तीन गांव कंटोनमेंट जोन में शामिल

Yuva Haryana, Rohtak

जिला के तीन गांवों में कोरोना पॉजिटिव मामलें पाये जाने पर जिला मैजिस्ट्रेट आर एस वर्मा ने डिस्ट्रिक्ट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) की सिफारिश पर दा हरियाणा महामारी कोविड-19 अधिनियम 2020, महामारी अधिनियम 1897 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत शक्तियों का प्रयोग करते हुए जिला की कलानौर तहसील के गांव माड़ौधी जाटान, महम उपमंडल के गांव गिरावड़ तथा सांपला उपमंडल के गांव समचाना को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया है। इन तीनों गांवों की प्रशासनिक सीमा को सील करने के आदेश जारी किए हैं, ताकि करोना के प्रसार को रोका जा सके।

इसके साथ ही उपरोक्त तीनों गांवों के साथ लगते 17 गांवों को बफर जोन में शामिल किया गया है।जिलाधीश ने आदेशो में कहा कि गांव माड़ौधी जाटान, गांव गिरावड़ तथा समचाना में एक-एक मामला कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसीलिए जिला प्रशासन ने उपरोक्त कदम उठाए हैं। इसके साथ-साथ जिला मेजिस्ट्रेट ने गांव माड़ौधी जाटान, गांव माड़ौधी रांगडान, गांव ककराना, गांव बलम्भ, बनियानी, गांव डोभ व गांव पटवापुर तथा महम उपमंडल के गांव खरैंटी, गांव समरगोपालपुर, गांव निंदाना, गांव अजायब व गांव मदीना और सांपला उपमंडल के गांव दतौड़, नौनंद, गांधरा, किसरेंटी व पाकस्मा को बफर जोन में शामिल किया है।

आदेशों में कहा गया है कि रोहतक जिला में कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए लोकडाउन व एकांतवास के उपायों को सख्ती से लागू करना जरूरी है। आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 34 के तहत डिस्ट्रिक्ट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के चेयरमैन को उपरोक्त कदम उठाने के अधिकार प्रदान किए गए हैं।स्थिति से निपटने के लिए कार्य योजना तैयार की गई है जिसके तहत संदिग्ध लोगों की स्क्रीनिंग टेस्टिंग, क्वॉरेंटाइन, आइसोलेशन, सामाजिक दूरी और अन्य जन स्वास्थ्य से संबंधित कार्य प्रभावी ढंग से कंटेनमेंट जोन में किए जाएंगे। सिविल सर्जन को निर्देश दिए गए हैं कि स्वास्थ्य विभाग की टीमें कंटेनमेंट क्षेत्रों में घर-घर जाकर स्क्रीनिंग व थर्मल स्कैनिंग आदि का कार्य करेगी।

उपरोक्त कार्य करने वाली स्वास्थ्य विभाग की टीमों को पीपीई कीट तथा अन्य आवश्यक सामान उपलब्ध करवाया जाएगा। तीनों गांवों के प्रत्येक घर को सैनिटाइज किया गया है।ग्राम पंचायत माड़ौधी जाटान, गिरावड़ व समचाना को निर्देश दिए गए हैं कि कंटेनमेंट व बफर जोन के समूचे क्षेत्र को पूरी तरह से सैनिटाइज करवाया जाए। तीनों क्षेत्रों के बीडीपीओ को निर्देश जारी किए गए है कि संपूर्ण गांव के सेनिटाइजेशन के लिए पर्याप्त मात्रा में स्टाफ को तैनात किया जाए और सेनीटाइजेशन के कार्य को सुनिश्चित किया जाये। सैनिटाइजेशन के कार्य में लगे हुए स्टाफ को पीपीई किट, मास्क, दस्ताने, टोपी, सैनिटाइजर व जूते उपलब्ध करवाये जाये और कार्य करने वाले स्टाफ को  सामाजिक दूरी के नियम भी अपनाने होंगे।

कंटेनमेंट जोन में आवश्यक सेवाओं को छोडक़र आमजन के आवागमन पर रोक लगा दी गई है। समूचे कंटेनमेंट जोन को सील करके वहां पर पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती की गई है और आवश्यकतानुसार नाके लगाए गए हैं। कंटेनमेंट जोन के प्रवेश और निकास के स्थान बनाने के निर्देश दिए गए हैं ताकि आवश्यक सेवाओं को ग्रामीण तक पहुंचाया जा सके।आवश्यकता के अनुसार कंटेनमेंट जोन में बैरिकेट भी लगाये जायेंगे।

कंटेनमेंट जॉन के लोगों को आवश्यक सुविधाएं व वस्तुएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा सूची तैयार की जायेगी। सभी आवश्यक वस्तुएं जैसे सब्जियां, राशन, किरयाणा व दूध आदि को कंटेनमेंट क्षेत्रों के घर द्वार तक पहुंचाने का कार्य किया जाएगा। उपरोक्त सेवाएं उपलब्ध करवाने वाले लोगों को पीपीई किट का इस्तेमाल करना होगा। सेवाएं देने वाला कोई भी व्यक्ति घरों के अंदर नहीं जाएगा और ना ही दूसरे व्यक्ति से शारीरिक रूप से संपर्क में आएगे। कंटेनमेंट जोन में निर्बाध बिजली आपूर्ति के के निर्देश भी जारी किये गये है। 

इसके अलावा कंटेनमेंट क्षेत्र में स्वच्छ पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। एम्बुलेंस, पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती भी क्षेत्र में हागी। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय माड़ौधी जाटान, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गिरावड़ व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय समचाना का भवन स्वास्थ्य विभाग की टीमों के लिए तैयार किया जाएगा।इस बीच उपायुक्त आर एस वर्मा तथा पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा ने उपरोक्त तीनों गांवों का दौरा किया और सरपंच तथा पंचायत प्रतिनिधियों से बातचीत करके उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये।

उपायुक्त ने कहा कि ग्रामीणों को सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जायेगी। इसके साथ ही उन्होंने ग्रामीणों से यह भी आग्रह किया कि वे उन लोगों की सूची उपलब्ध करवाये जिनके सम्पर्क में कोरोना के मरीज आये है।इस अवसर पर महम के एसडीएम अभिषेक मीणा, सिविल सर्जन डॉ. अनिल बिरला व उपसिविल सर्जन डॉ केएल मलिक भी मौजूद थे।