\u0939\u0930\u093F\u092F\u093E\u0923\u093E \u0938\u0930\u0915\u093E\u0930 \u0928\u0947 IAS \u0905\u0927\u093F\u0915\u093E\u0930\u0940 \u0906\u0936\u093F\u092E\u093E \u092C\u0930\u093E\u0921\u093C \u0915\u094B \u0938\u094C\u0902\u092A\u093E \u0905\u0924\u093F\u0930\u093F\u0915\u094D\u0924 \u0915\u093E\u0930\u094D\u092F\u092D\u093E\u0930, \u0935\u093F\u091C\u092F \u0917\u094B\u092F\u0932 \u092C\u0928\u0947 \u0939\u0930\u0947\u0930\u093E \u0915\u0947 \u0928\u092F\u0947 \u0938\u0926\u0938\u094D\u092F

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. सरकार-प्रशासन

हरियाणा सरकार ने IAS अधिकारी आशिमा बराड़ को सौंपा अतिरिक्त कार्यभार, विजय गोयल बने हरेरा के नये सदस्य

Yuva Haryana, Chandigarh हरियाणा सरकार ने तुरंत प्रभाव से आईएएस अधिकारी मुख्यमंत्री की उपप्रधान सचिव आशिमा बराड़ को उनके वर्तमान कार्यभार के अलावा, श्रीमती रेनू एस. फूलिया की चुनाव ड्यूटी के दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग के महानिदेशक व सचिव का कार्यभार सौंपा है। वहीं विजय गोयल ने आज...


हरियाणा सरकार ने IAS अधिकारी आशिमा बराड़ को सौंपा अतिरिक्त कार्यभार, विजय गोयल बने हरेरा के नये सदस्य

Yuva Haryana, Chandigarh

हरियाणा सरकार ने तुरंत प्रभाव से आईएएस अधिकारी मुख्यमंत्री की उपप्रधान सचिव आशिमा बराड़ को उनके वर्तमान कार्यभार के अलावा, श्रीमती रेनू एस. फूलिया की चुनाव ड्यूटी के दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग के महानिदेशक व सचिव का कार्यभार सौंपा है।

वहीं विजय गोयल ने आज हरेरा गुरुग्राम के नए सदस्य के रूप में कार्यभार संभाल लिया है। उनकी नियुक्ति श्री एस सी कुश का कार्यकाल पूर्ण होने पर रिक्त हुए पद पर हुई है।

आज कार्यभार संभालने पर हरेरा गुरुग्राम के चेयरमैन डा. के के खंडेलवाल ने उनका अथॉरिटी में नए सदस्य के तौर पर शामिल होने पर स्वागत किया है। इससे पहले गोयल नगर एवं ग्राम आयोजना विभाग हरियाणा में चीफ टाउन प्लानर के तौर पर सेवाएं दे चुके हैं ।

हरियाणा के सरकारी व सरकारी सहायता प्राप्त कॉलेजों में स्नातकोत्तर कक्षाओं में पढऩे वाली जिन छात्राओं के परिवारों की सभी स्रोतों से 1.80 लाख रूपए से कम वार्षिक आय है, उन छात्राओं से ट्यूशन-फीस नहीं ली जाएगी।

एक सरकारी प्रवक्ता ने राज्य सरकार के इस निर्णय की जानकारी देते हुए बताया कि उच्चतर शिक्षा विभाग के महानिदेशक ने उक्त दिशा-निर्देशों बारे प्रदेश के सभी सरकारी कॉलेजों व सरकारी सहायता प्राप्त कॉलेजों के प्राचार्यों को पत्र लिखा है।