Yuva Haryana
Bijli Bill For Farmers- किसानों की बल्ले बल्ले, बिजली बिल में 50 फीसदी छूट का ऐलान
 

Electricity Bill For Farmers in Uttar Pardesh Government- उत्तर प्रदेश सरकार ने नए साल की शुरुआत में ही राज्य के किसानों को बड़ी राहत दी है. योगी सरकार ने किसानों को निजी नलकूपों के उपयोग के लिए बिजली दरों पर छूट देने की घोषणा की. 

उत्तर प्रदेश में चुनाव  नजदीक आने वाले हैं. ऐसे में सूबे के मुखिया  योगी आदित्यनाथ (Yogi Government) ने किसानों के फायदे के लिए बड़ा फैसला लिया है.  सरकार ने किसानों के बिजली के बिल में 50% छूट की (Discount on UP Farmers Electricity Bill) का ऐलान किया है. इसकी जानकारी उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से ट्वीट कर दी गई है. 

Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath decided to give a 50% rebate in electricity rates relative to the current rates, for private tubewells of farmers: UP CMO

यूपी सरकार की तरफ से ट्वीट में लिखा गया कि  "योगी सरकार ने किसानों की सुविधा और समृद्धि के लिए निजी ट्यूबवेल की बिजली दरों में वर्तमान दरों के सापेक्ष 50 प्रतिशत छूट देने का निर्णय लिया है". 

योगी सरकार का कहना है कि , इससे ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों के किसानों को इसका फायदा मिलेगा. इस नए नियम से ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों को मीटर्ड कनेक्शन पर दो रुपये प्रति यूनिट की जगह 1 रुपये प्रति यूनिट ही चुकाने होंगे. इस कनेक्शन पर अब तक 70 रुपये प्रति हॉर्सपावर का फिक्स चार्ज लिया जाता है, अब ये दर घटाकर 35 रुपये प्रति हॉर्स पावर कर दी गई है.

मुख्यमंत्री कार्यालय ने बृहस्पतिवार को ट्वीट किया, "किसानों की सुविधा और समृद्धि के लिए संकल्पबद्ध मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निजी नलकूप के लिए विद्युत दरों में वर्तमान दरों के सापेक्ष 50 प्रतिशत की छूट देने का निर्णय किया है." 

किसानों ने की थी बिजली बिल में छूट देने की मांग
नई दरों के अनुसार, ग्रामीण क्षेत्रों में मीटर युक्त कनेक्शन के लिए प्रति यूनिट बिजली दर को दो रुपए से घटाकर एक रुपया और प्रति हॉर्स पावर फिक्स चार्ज को 70 रुपये से घटाकर 35 रुपये कर दिया गया है. 

इसी तरह बिना मीटर वाले कनेक्शन के लिए प्रति हॉर्स पावर 170 रुपये फिक्स चार्ज को घटाकर 85 रुपये कर दिया गया है. शहरी इलाकों में मीटर युक्त कनेक्शन के लिए प्रति यूनिट बिजली की दर को छह रुपये से घटाकर तीन रुपये और फिक्स चार्ज को 130 से घटाकर 65 रुपये किया गया है. 

सिंचाई के लिए निजी नलकूप की मौजूदा बिजली दर में सरकार ने 50 प्रतिशत की कटौती करने का निर्णय किया है। इससे राज्य के 13 लाख किसानों को सीधा फायदा होगा। उनका सिंचाई का खर्चा आधा हो जाएगा। बिजली की दरों में 50 प्रतिशत की कटौती करने के लिए सरकार को लगभग एक हजार करोड़ रुपये उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड को बतौर अनुदान देना होगा।

सपा और AAP  कर चुकी हैं मुफ्त बिजली का वादा
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नजदीक आने के बीच मुफ्त और सस्ती बिजली को लेकर घोषणाओं का दौर शुरू हो गया है. समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी ने सरकार बनने पर घरेलू उपभोक्ताओं को 300 यूनिट मुफ्त बिजली देने का वादा किया है. 

भाजपा सरकार को भी सपा और आम आदमी पार्टी के वादों का मुकाबला करने के लिए ऐसे ही किसी वादे के साथ जनता के सामने आना था. विपक्ष लगातार सरकार ने बिजली की दरें सस्ती करने की मांग कर रहा है.