Yuva Haryana
Weather Update: हरियाणा में कोहरा और कड़ाके की ठंड, इन राज्यों में होगी बारिश, देखें मौसम पूर्वानुमान
 

पंजाब, हरियाणा और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ में आने वाले 5 दिनों तक शीत लहर चलने की संभावना है, जिससे ठिठुरन बढ़ेगी। मंगलवार को हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ में घनी धुंध छाई। पहाड़ों पर बर्फबारी और मैदानों में बारिश के बाद पूरे उत्तर भारत में घने कोहरे की चादर बिछ गई है।

हरियाणा और एनसीआर दिल्ली का पूरा इलाका कोहरे की सफेद चादर लिपटा हुआ है और शीतलहर की वजह से शीत ऋतु ने अपना चरम तेवरों के साथ अपना रूप दिखाना शुरू कर दिया है।

भारतीय मौसम विभाग ने पूरे इलाके पर शीतलहर और कोहरे की वजह से येलो अलर्ट जारी कर दिया है। मंगलवार को पूरे हरियाणा में महेंद्रगढ़ जिला सबसे ठंडा रहा और दूसरे स्थान पर हिसार व नारनौल तीसरे पायदान पर रहा ।

मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक आने वाले तीन -चार दिनों में उत्तर भारत के पहाड़ी और मैदानी राज्यो में विशेषकर हरियाणा एनसीआर दिल्ली में मौसम पूरी तरह शुष्क रहेगा। हल्की बादलवाही रहने की संभावनाएं हैं।

उत्तरी राजस्थान और हरियाणा और पंजाब के सीमावर्ती क्षेत्रों में हल्की शीत लहर की स्थिति देखी गई है, जिसमें तापमान

आज सुबह सीमा रेखा के मामले हिसार (4.7 डिग्री सेल्सियस), चित्तौड़गढ़ (4.6 डिग्री सेल्सियस), भीलवाड़ा (4.4 डिग्री सेल्सियस), बीकानेर (5 डिग्री सेल्सियस) और बठिंडा (5.4 डिग्री सेल्सियस) थे। ये शीत लहर की तीव्रता और निकटवर्ती स्थानों में आगे फैलने के संभावित स्थान हैं। अगले दो-तीन दिनों में हिमांक स्टेशनों की लंबी सूची होने की उम्मीद है।

16 जनवरी को दक्षिण राजस्थान पर एक चक्रवाती परिसंचरण की संभावना के साथ हवा के पैटर्न में उलटफेर की उम्मीद है। साथ ही, उस समय के आसपास एक पश्चिमी विक्षोभ आने की संभावना है, जो पहाड़ों से ठंडी हवा को दबा देगा। इसके बाद अधिकांश हिस्सों में शीत लहर की स्थिति समाप्त हो जाएगी। अगले 24 घंटों में कुछ हिस्सों में आंशिक बादल छाए रहेंगे। हालांकि, इस सप्ताह के अंत तक उत्तरी मैदानी इलाकों में बारिश की कोई संभावना नहीं है।

[HINDI] सम्पूर्ण भारत का जनवरी 12, 2022 का मौसम पूर्वानुमान

देश भर में बने मौसमी सिस्टम
पश्चिमी विक्षोभ पूर्व दिशा की ओर आगे बढ़ गया है। उत्तर हरियाणा और उत्तर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आसपास के हिस्सों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र देखा जा सकता है। एक ट्रफ रेखा उत्तरी हरियाणा और उत्तर प्रदेश के ऊपर बने हुए चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश तक फैली हुई है।

एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी और आसपास के क्षेत्रों पर बना हुआ है। एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तरी कोंकण और आसपास के इलाकों पर बना हुआ है।

पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर में हुई मौसमी हलचल
पिछले 24 घंटों के दौरान, पंजाब, उत्तराखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बिहार, उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों और उत्तर-पश्चिम राजस्थान के 1-2 हिस्सों में घना से बहुत घना कोहरा छाया रहा। उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात हुआ। जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश और हिमपात हुआ।

विदर्भ, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ में हल्की से मध्यम बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ीं। आंतरिक ओडिशा, झारखंड के कुछ हिस्सों, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश हुई।

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि
अगले 24 घंटों के दौरान, विदर्भ और छत्तीसगढ़ में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, तेलंगाना और पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो तेज बारिश हो सकती है।

आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और लक्षद्वीप और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश संभव है। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों में मध्यम से घना कोहरा संभव है।

आने वाले तीन चार दिनों में किसी नया पश्चिमी विक्षोभ ( वैस्टर्न डिस्टरबेंस ) का प्रभाव नही पड़ेगा, हल्की उत्तर पश्चिमी हवाओं के चलते रात के तापमान में 2 से 4°c की गिरावट आने की संभावना है, दिन में कोहरे वाले इलाकों में अधिकतम तापमान में 2 से 4°c की कमी आने की संभावना है, जिन स्थानों पर धूप निकलेगी वहां तापमान में हल्की से बढ़ोतरी होगी।

पंजाब, हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, के कई हिस्सों में मध्यरात्रि से और सुबह के घंटो में घना कोहरा रहने की संभावना है। दृश्यता 20 - 30 मीटर से कम रह सकती है। दिन के घंटे में हवा बढ़ने से कोहरा उपरी सतह पर हो सकता है वहीं शहरों में धूप निकल सकती है।