Yuva Haryana
हरियाणा में बारिश और ओलावृष्टि का अलर्ट, इन जगहों पर हुई सबसे ज्यादा बारिश, देखें मौसम पूर्वानुमान
 

Haryana Weather Rain Alert- हरियाणा में आज सुबह से ही कई इलाकों में बूंदाबांदी हो रही है, वहीं अगले तीन दिनों तक मौसम विभाग ने हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जाहिर की है। इसके अलावा मौसम विभाग ने कई स्थानों पर ओलावृष्टि की भी संभावना जाहिर की है।

पाश्चिमी विक्षोभ व अरब सागर से आने वाली नमी वाली हवायों तथा राजस्थान के ऊपर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने से राज्य  में ज्यादातर क्षेत्रों में 5 जनवरी रात्रि से 9  जनवरी के दौरान  बादलवाई तथा बीच-बीच में गरज चमक व हवायों के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है जिससे इस दौरान दिन के तापमान में गिरावट परन्तु रात्रि तापमान में बढ़ोतरी दर्ज होने की संभावना है ।

बुधवार को मौजूदा सक्रिय मौसम प्रणाली वैस्टर्न डिस्टरबेंस से सुबह से ही बारिश का आगाज पहले हरियाणा के पश्चिमी जिलों सिरसा, फतेहाबाद, हिसार, भिवानी और महेंद्रगढ़ पर शुरू हो गया था और हल्की से मध्यम बारिश ने अपना रंग धीरे-धीरे दिखाना शुरू कर दिया। 

दोपहर तक मध्य हरियाणा के जिलों कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, रोहतक, झज्जर व रेवाड़ी आदि में हल्की से सामान्य बारिश होती रही और उसके बाद गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत, पानीपत, करनाल, यमुनानगर, अम्बाला और एनसीआर दिल्ली में हल्की तो कुछ स्थानों पर भारी बारिश और पर्वतीय क्षेत्रों में भारी मात्रा में हिमपात हुआ है। 

नोडल अधिकारी डाक्टर चंद्रमोहन ने बताया कि सम्पूर्ण मैदानी इलाकों पर बादलों ने डेरा जमा रखा है, और दोपहर बाद से बर्फीली हवाओं की वजह से आमजन को कड़ाके की ठंड अहसास होने लगा था। दिनभर बादलवाही और रुक-रुक कर बारिश होने से व ठंडी बर्फीली हवाओं से उत्तर पश्चिमी भारत के राज्यों में बड़े पैमाने पर कोल्ड -डे (ठंडा दिन) की स्थिति देखी जाएगी, यानि अधिकतम तापमान 16.0 डिग्री से नीचे दर्ज किया जाएगा। 

बुधवार सुबह हरियाणा में वर्तमान मौसम प्रणाली से अधिकतर स्थानों का तापमान में बढ़ोतरी हुई थी जिसमें न्यूनतम तापमान 10-18 डिग्री सेल्सियस रहा और अधिकतम तापमान 17-23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। सभी जिलों में हल्की से मध्यम बारिश हुई जिससे आमजन आग जलाकर अलावों में सिकता नजर आया। 

दोपहर बाद के आंकड़े के मुताबिक हिसार में 13.3 एमएम, भिवानी में 8.6 एमएम, महेंद्रगढ़ में 7.4 एमएम, रेवाड़ी और झज्जर में 6.3, कनीना में 5.0 एमएम नारनौल 4.5 एमएम महेंद्रगढ़ तहसील में 2.9 एमएम, सिरसा में 3.6 बारिश दर्ज की गई। गुरुवार को हरियाणा के सभी जिलों के तापमान में गिरावट दर्ज होगी और कड़ाके की ठंड अपना तीखे तेवर दिखाएगी। 

वर्तमान में लगातार नए बादलों के निर्माण से हरियाणा में रात को भी लगातार बारिश की गतिविधियां देखने को मिलेंगी। हरियाणा एनसीआर के वातावरण में बारिश की गतिविधियों से वातावरण में नमी की मात्रा बढ़ गई है। 

आने वाले दिनों में कोहरा की मात्रा में बढ़ोतरी होगी वाहन चालकों को सर्दी के मौसम में अपने वाहनों को चलाते समय अतिरिक्त सावधानी बरतने और यातायात से संबंधित कुछ जरूरी हिदायतों का पालन करने की सलाह दी जाती है। जो समय-समय पर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन देते रहते हैं। उनका कड़ाई से पालन करना चाहिए। 

गुरुवार को भी संपूर्ण हरियाणा राज्य और एनसीआर दिल्ली पर बादल छाए रहने और अलग-अलग स्थानों बिखराव वाली हल्की बारिश होने की संभावना है। सात जनवरी को एक नया ताकतवर वैस्टर्न डिस्टरबेंस सक्रिय मौसम प्रणाली उत्तरी पर्वतीय क्षेत्रों से भारत में प्रवेश करने वाला है जिसकी वजह से मैदानी राज्यों में विशेषकर हरियाणा, एनसीआर दिल्ली, पंजाब में सामान्य से तीव्र बारिश की गतिविधियां देखने को मिलेगी। यह बारिश किसानों की फसलों के लिए अमृत समान है, जिसके कारण से कृषकों के चेहरे पर खुशी है। उन्हें सलाह दी जाती है कि अभी सिंचाई और कैमिकल छिड़काव न करें।

[HINDI] सम्पूर्ण भारत का जनवरी 6, 2022 का मौसम पूर्वानुमान
देश भर में बने मौसमी सिस्टम
पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर पर बना हुआ है और एक और पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान और उससे सटे अफगानिस्तान पर देखा जा सकता है। एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण पश्चिम राजस्थान और पाकिस्तान के आसपास के क्षेत्रों पर बना हुआ है। पूर्वी बांग्लादेश के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है।

एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ जो अधिक मजबूत होगा, 6 जनवरी की रात से पश्चिमी हिमालय को प्रभावित करना शुरू कर देगा।

पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर में हुई मौसमी हलचल
पिछले 24 घंटों के दौरान, राजस्थान में कई स्थानों पर हल्की बारिश तथा कुछ स्थानों पर मध्यम बारिश दर्ज की गई। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हुई है। गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख, जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ स्थानों पर व्यापक बारिश और हिमपात हुआ है।

उत्तर पश्चिम और मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में 2-3 डिग्री की वृद्धि हुई है। उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों में घना से बहुत घना कोहरा देखा गया।

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि
अगले 24 घंटों के दौरान, पश्चिमी हिमालय पर हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात होने की संभावना है। कुछ कुछ स्थानों पर भारी बारिश के साथ भारी बर्फबारी भी हो सकती है। पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में भी हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। इन राज्यों में कुछ स्थानों पर ओलावृष्टि भी संभव है।

दिल्ली, पश्चिम और मध्य उत्तर प्रदेश, गुजरात के कुछ हिस्सों और पश्चिम और उत्तरी मध्य प्रदेश में भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। उत्तर पश्चिम और मध्य भारत के दिन के तापमान में 2-4 डिग्री की गिरावट आएगी।

Haryana Rain Report 5 january