\u091F\u093F\u0915\u0930\u0940 \u092C\u0949\u0930\u094D\u0921\u0930 \u092A\u0930 \u0907\u0928\u0947\u0932\u094B \u0928\u0947 \u0916\u094B\u0932\u093E \u0905\u0938\u094D\u0925\u093E\u0908 \u0905\u0938\u094D\u092A\u0924\u093E\u0932, \u0915\u093F\u0938\u093E\u0928\u094B\u0902 \u0915\u094B \u092E\u093F\u0932\u0947\u0917\u0940 \u0938\u094D\u0935\u093E\u0938\u094D\u0925\u094D\u092F \u0938\u0941\u0935\u093F\u0927\u093E

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. खेत-खलिहान

टिकरी बॉर्डर पर इनेलो ने खोला अस्थाई अस्पताल, किसानों को मिलेगी स्वास्थ्य सुविधा

Yuva Haryana, Tikari Border इंडियन नेशनल लोकदल ने टीकरी बार्डर पर तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ धरने पर बैठे किसानों के लिए बुधवार को 40 बैड का अस्थाई अस्पताल चिकित्सा के खोल दिया। इस अवसर पर इनेलो की छात्र ईकाइ के राष्ट्रीय प्रभारी अर्जुन चौटाला ने कहा कि बार्डर...


टिकरी बॉर्डर पर इनेलो ने खोला अस्थाई अस्पताल, किसानों को मिलेगी स्वास्थ्य सुविधा

Yuva Haryana, Tikari Border

इंडियन नेशनल लोकदल ने टीकरी बार्डर पर तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ धरने पर बैठे किसानों के लिए बुधवार को 40 बैड का अस्थाई अस्पताल चिकित्सा के खोल दिया।

टिकरी बॉर्डर पर इनेलो ने खोला अस्थाई अस्पताल, किसानों को मिलेगी स्वास्थ्य सुविधा

इस अवसर पर इनेलो की छात्र ईकाइ के राष्ट्रीय प्रभारी अर्जुन चौटाला ने कहा कि बार्डर पर धरने पर बैठे किसानों के स्वास्थ्य को लेकर सबसे बड़ी समस्या थी। सरकार किसानों को स्वास्थय सुविधाओं से वंचित रखना चाहती थी ताकि आंदोलन को खत्म किया जा सके ।

टिकरी बॉर्डर पर इनेलो ने खोला अस्थाई अस्पताल, किसानों को मिलेगी स्वास्थ्य सुविधा

उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी ने फैसला किया कि जितनी ज्यादा हो सके किसानों को स्वास्थ्य चिकित्सा सुविधा प्रदान करेंगे। उसी कड़ी में पार्टी ने टीकरी बार्डर पर एक मैडीकल कैंप बनाने का फैसला किया जिसमें 40 बैड का अस्थाई अस्पताल बनाया गया ताकि किसानों के स्वास्थ्य का ध्यान रखा जा सके । उन्होंने बताया कि अस्पताल में तीन वार्ड बनाए गए हैं जिसमें दो वार्ड जनरल के हैं और एक वार्ड महिलाओं के लिए बनाया गया है।

टिकरी बॉर्डर पर इनेलो ने खोला अस्थाई अस्पताल, किसानों को मिलेगी स्वास्थ्य सुविधा

मैडिकल सुविधा न होने के कारण हुई किसानों की मौतों पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए अर्जुन चौटाला ने कहा कि सरकार किसानों की मदद करना तो दूर वो यह भी मानने को तैयार नहीं हैं कि उनकी तरफ से किसानों को दी जाने वाली मदद में कटौती की गई है जो कि किसानों का मौलिक अधिकार है। साथ ही अर्जुन ने कहा कि सरकार के मंत्री द्वारा किसानों को अपशब्द कहे गए जो बेहद निंदनीय है।

टिकरी बॉर्डर पर इनेलो ने खोला अस्थाई अस्पताल, किसानों को मिलेगी स्वास्थ्य सुविधा

अर्जुन चौटाला ने विपक्ष में बैठे विधायकों को भी आड़े होथों लेते हुए कहा कि वो विधायकों वाली तनख्वाह लेने, सरकारी शुरक्षा लेने, सरकारी घर लेने में और किसानों के बीच जाकर झुठी बात कहने में उनका जमीर मान गया लेकिन किसानों के लिए इस्तीफा देनें के लिए अभी तक उनका जमीर नहीं माना।

टिकरी बॉर्डर पर इनेलो ने खोला अस्थाई अस्पताल, किसानों को मिलेगी स्वास्थ्य सुविधा

उन्होंने कहा कि अगर वो सच में किसानों के हितैषी हैं तो इस्तीफा देकर धरने पर बैठे किसानों के बीच में आएं, किसान उनका दिल खोल कर स्वागत करेंगे। उन्होंने कहा कि कहने वाले बहुत हैं लेकिन करने वाले सिर्फ अभय चौटाला के अलावा और कोई नहीं है।

टिकरी बॉर्डर पर इनेलो ने खोला अस्थाई अस्पताल, किसानों को मिलेगी स्वास्थ्य सुविधा

उन्होंने कहा कि विपक्ष में बैठे विधायकों को अब यह बात चुभ रही है कि अभय सिंह चौटाला ने किसानों के पक्ष में इस्तीफा दिया क्योंकि विपक्ष के विधायक अब जब गांव में जाते हैं तो किसान उन्हें गांव में घुसने नहीं देते।