एक कॉल ने नरक बना दी महिला की जिंदगी, आंसू में बदल गई खुशी, पुलिस भी रहे गई दंग

Sahab Ram
4 Min Read

 

Yuva Haryana : आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का यूज कर फरीदाबाद की एक बुजुर्ग महिला को लूटने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है की इस मामले में, फरीदाबाद में एक बुजुर्ग महिला को साइबर ठगों ने 7 घंटे तक हाउस अरेस्ट में रखा और फिर उससे 4 लाख से ज्यादा रुपये को ऑनलाइन ट्रांसफर करवा लिए। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार, कुसुम नामक बुजुर्ग महिला को फोन करके साइबर ठगों ने एक माहौल बनाया , जिसमें उन्होंने महिला के बेटे को रेप केस में फंसा हुआ बताया। एक कुसुम नाम की महिला को फोन किया, जो कि  बल्लबगढ़ के आदर्श नगर की रहने वाली हैं और कहा कि उनका बेटा शुभम कौशिक (जो कि दिल्ली यूनिवर्सिटी में साइंटिस्ट है), रेप केस में पकड़ा गया है। अगर आप उसे बचाना चाहती हैं तो जैसा वह कह रहे हैं इस तरह करें वरना उनका बेटा जेल जाने से नहीं बचेगा।

इसके बाद, साइबर ठगों ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से बेटे की फर्जी आवाज सुना दी, जिसमें बेटे ने मां से कहा कि उसे अधिकारियों की बातों का पालन करना होगा और उससे कुछ पैसे मांगे गए हैं।

महिला को बहुत ही सावधानी से साइबर ठगों ने 7 घंटे तक धमकी देते हुए हाउस अरेस्ट में रखा और उसे 4 लाख से ज्यादा रुपये की राशि ऑनलाइन ट्रांसफर करवा ली। महिला के पास इतने पैसे नहीं थे, लेकिन ठगों ने महिला पर रिश्तेदारों से पैसे मांगने का दवाब बनाया और उससे यह कहकर पैसे मांगे लिए कि अगर उसने पैसे नही दिए तो उसके बेटे के हाथ पैरों को काट देंगे ।

इस दौरान साइबर ठगों ने 14 अलग-अलग खातों में 4 लाख से ज्यादा की रकम ऑनलाइन ट्रांसफर कराई। हद तो उसे वक्त हो गई जब महिला का बेटा शाम को अपने काम से घर लौटा तब भी साइबर ठग उससे पैसे की मांग कर रहे थे। बेटे आने पर महिला ने पूरी बात बेटे को बताई तब उन्हें इस ठगी का एहसास हुआ लेकिन तब तक 4 लाख से ज्यादा की रकम ठगों के पास पहुंच चुकी थी। इसके बाद पीड़ित मां-बेटे ने पुलिस को शिकायत दी जिस पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर अब जांच शुरू कर दी है।

शुभम कौशिक ने बताया, ‘मैं सुबह 10 बजे ऑफिस के लिए निकला. मेरी माताजी के पास दिन के 12 बजे के आसपास एक कॉल आया जिसमें एक शख्स ने खुद को सीबीआई अधिकारी बताते हुए कहा कि मैं रेप केस में फंस गया हूं।

मेरी मां को भरोसा नहीं हुआ तो उन्होंने मेरी आवाज से मिलते-जुलते शख्स से बात कराई। फिर उन्होंने कुछ पर्सनल डिटेल भी शेयर की। फिर मेरी माताजी से 12 बजे दिन से शाम 6 बजे तक 4 लाख रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर करवा लिए।
फरीदाबाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू करते हुए ठगों की खोज में जुट गई है। पुलिस अधिकारी, राजकुमार सिंह, ने बताया कि इस मामले को गंभीरता से लेकर जांचा जा रहा है और ठगों को जल्दी से पकड़ा जाएगा।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग करके आवाज बदलकर ठगी करने के मामले बढ़ रहे हैं, जिससे ठगों की पहचान करना और रोकथाम करना भी कठिन हो रहा है। पुलिस ने लोगों से सतर्क रहने और ऐसी धोखाधड़ी से बचने के लिए अपील की है।

 

Share This Article
Leave a comment