Yuva Haryana
दहेज के लिए पत्नी की हत्या, 15 दिन पहले भी की थी जान लेने की कोशिश, पिता पहुंचा तो इस हालत में मिला शव
 

पलवल में एक विवाहिता की हत्या का मामला सामने आया है। मामला गांव आल्हापुर का है, जहां दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर विवाहिता नेहा की फंदा लगाकर हत्या कर दी गई। शहर थाना पुलिस ने नेहा के पिता की शिकायत पर केस दर्ज किया है। पति के खिलाफ दहेज हत्या में जांच शुरू की गई है।

जांच अधिकारी एएसआई जमील अहमद ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि शिवाला कला पोस्ट गौतम खैर अलीगढ़ के रहने वाले बलवीर ने शिकायत दी है कि उसने 20 वर्षीय बेटी नेहा की शादी जून 2020 में पलवल के गांव आल्हापुर निवासी अंकुश पुत्र राजबीर के साथ की थी।

शादी में दान-दहेज भी दिया, नेहा के ससुरालवाले इससे खुश नहीं थे। शादी के बाद और अधिक दहेज लाने की मांग को लेकर उसकी बेटी को अंकुश प्रताडि़त करने लगा। 15 दिन पहले पीडि़त को फोन पर उसकी बेटी ने इसकी शिकायत की थी। बताया था कि अंकुश ने उसका गला दबाकर हत्या करने का प्रयास किया है।

इसके बाद परिजन गांव आल्हापुर पहुंचे और अंकुश को समझाकर अपनी बेटी नेहा को अपने साथ ले जाने के लिए कहा। लेकिन अंकुश ने उसकी बेटी को नहीं आने दिया। शनिवार शाम करीब 6 बजे पीडि़त के पास बेटी की ससुराल से फोन आया कि बेटी ने पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है।

सूचना मिलते ही पीडि़त परिवार के साथ मौके पर पहुंचा और देखा कि उसकी बेटी घर में चारपाई पर मृत अवस्था में पड़ी थी और उसके गले पर निशान थे। पीडि़त का आरोप है कि दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर उसकी बेटी नेहा की अंकुश ने फंदा लगाकर हत्या की है।