Yuva Haryana
कार के अंदर जला मिला था शव, पुलिस ने जांच की तो हादसा नहीं, प्री प्लांड मर्डर निकला...इस कारण की गई थी हत्या
 

हरियाणा के सोनीपत जिले में बड़ी वारदात पुलिस ने सुलझाई है। बीती 26 दिसंबर को गांव कुमासपुर के पास एक जली हुई कार में शव मिला था। शव जला हुआ था और पुलिस ने इसे प्राथमिक तौर पर हादसा मान लिया था। गहराई से जांच की गई तो मामला कुछ और ही निकला।

पुलिस के मुताबिक कार में आग हादसे के बाद नहीं लगी थी। यह एक प्री प्लांड मर्डर था। पहले कार सवार गांव मेहंदीपुर राकेश उर्फ फुल कुमार को उसी के तीन साथियों ने पीटा और फिर उसकी हत्या करने के बाद शव को कार के अंदर रख आग लगा दी थी।

पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी गांव मुरथल निवासी देवेंद्र और अंजित  हैं। दोनों ही गांव बुटाना के रहने वाले हैं। फिलहाल इस मामले में मुख्य आरोपी नरेंद्र फरार है। वहीं, दोनों आरोपी पुलिस ने रिमांड पर लिए हैं, जिनसे गहनता से पूछताछ की जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार 26 दिसंबर को गांव मेहंदीपुर निवासी राकेश उर्फ फुल कुमार गांव मुरथल में एक शादी समारोह में आया था। गांव कुमासपुर के पास राकेश उर्फ फुल कुमार की गाड़ी में आग लगी हुई मिली थी। उसी की डेड बॉडी कार के अंदर बरामद हुई थी।

जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में मामला दर्ज कर जांच करते हुए अब बड़ा खुलासा किया है। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है गिरफ्तार आरोपी देवेंद्र गांव मुरथल और अंजित गांव बुटाना का रहने वाला है।

मामले में अब खुलासा हुआ है कि पहले राकेश और फूल कुमार ने अपने तीन साथियों के साथ शराब पी। फिर उसके बाद राकेश और नरेंद्र नाम के शख्स का झगड़ा हो गया। जिसके बाद देवेंद्र, अंजित और नरेंद्र ने पीट-पीटकर राकेश की हत्या कर दी। उसके बाद उसके शव को कार के अंदर डाल दिया और फिर कार में आग लगा दी।

मामले में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि उन्हें 26 दिसंबर को सूचना मिली थी कि गांव देपालपुर रोड पर एक जली हुई कार में शव पड़ा हुआ है। जिसके बाद मृतक की पहचान गांव मेहंदीपुर निवासी राकेश उर्फ फुल कुमार के रूप में हुई थी। इस मामले में पुलिस को पहले ही आशंका थी कि कोई और मामला ह।

लेकिन जांच में खुलासा हुआ है कि राकेश गांव मुरथल में देवेंद्र के भाई की शादी में शामिल होने के लिए आया था और उसके बाद शराब पीने के बाद नरेंद्र और राकेश में झगड़ा हो गया। राकेश ने नरेंद्र पर आरोप लगाए थे कि उसकी पत्नी के साथ उसके अवैध संबंध है, जिसके बाद राकेश की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।