Yuva Haryana
Haryana रोडवेज की बस पलटी, 45 यात्रियों की बाल-बाल बची जान, देखिये तस्वीरें
Yuva Haryana News Nuh , 21 September , 2020 हरियाणा के नूंह जिले में सुबह सुबह एक बड़ा हादसा होने से टल गया। जैसे की कहते भी है जाको राखे साईया मार सके न कोई। यहां भी वही कहावत सिद्ध हुई है। नूंह जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 248A पर स्थित...
 
Haryana रोडवेज की बस पलटी, 45 यात्रियों की बाल-बाल बची जान, देखिये तस्वीरें

Yuva Haryana News
Nuh , 21 September , 2020

हरियाणा के नूंह जिले में सुबह सुबह एक बड़ा हादसा होने से टल गया। जैसे की कहते भी है जाको राखे साईया मार सके न कोई। यहां भी वही कहावत सिद्ध हुई है। नूंह जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 248A पर स्थित पिथोरपुरी गांव के समीप बाइक चालक को बचाने के लिए हरियाणा रोडवेज की बस सड़क किनारे बनी पुलिया पर जाकर अटक गई।

Haryana रोडवेज की बस पलटी, 45 यात्रियों की बाल-बाल बची जान, देखिये तस्वीरें

गनीमत रही कि बस पुलिया की वजह से नीचे नहीं गिरी। बस में सवार चालक-परिचालक के अलावा तकरीबन 40 – 45 यात्रियों को हल्की चोटें आई हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार एचआर 74 ए 7694 हरियाणा रोडवेज की बस नूंह से जयपुर जा रही थी। जैसे ही बस ने बडकली चौक को पार किया तो पिथोरपुरी गांव के समीप अचानक एक बाइक चालक बस के सामने आ गया।

Haryana रोडवेज की बस पलटी, 45 यात्रियों की बाल-बाल बची जान, देखिये तस्वीरें

उसे बचाने के चक्कर में चालक खालिद ने बस को आगे बढ़ाया, लेकिन वह उस पर नियंत्रण नहीं रख सका और बस सड़क किनारे बनी पुलिया में जाकर अटक गई। परिचालक आजाद सिंह ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा की हरियाणा रोडवेज की बस तकरीबन 3 बजे नूंह से जयपुर के लिए रवाना हुई थी और 15 – 20 मिनट बाद जैसे ही बस पिथोरपुरी गांव के पास पहुंची तो अचानक बाइक आ गई, जिसे बचाने के चक्कर में चालक खालिद बस पर नियंत्रण नहीं रख सका।

Haryana रोडवेज की बस पलटी, 45 यात्रियों की बाल-बाल बची जान, देखिये तस्वीरें

जिसकी वजह से यह हादसा हुआ। हादसा होते ही घटनास्थल पर भारी भीड़ जमा हो गई। अल आफिया सामान्य अस्पताल घटनास्थल से नजदीक होने की वजह से तुरंत एंबुलेंस मौके पर पहुंची। जिन यात्रियों को ज्यादा चोट आई उन्हें पड़ोस के अस्पताल मांडी खेड़ा में भर्ती कराया गया, लेकिन अधिकतर यात्री बिना इलाज कराए मामूली चोट होने की वजह से अपने घरों की तरफ रवाना हो गए।

घटनास्थल की खबर सुनने के बाद वहां पर भारी भीड़ जमा हो गई और लोगों ने बस में फंसे यात्रियों को निकालने में मदद की। कुल मिलाकर गनीमत रही कि बस नीचे गड्ढों में नहीं गिरी और ना ही इस हादसे के दौरान कोई दूसरा वाहन उसकी चपेट में आया, वर्ना दर्जनों लोगों की जान जा सकती थी।