Yuva Haryana
रिश्तों का कत्ल, युवक ने की दादा, मां और भाई की हत्या...जघन्य हत्याकांड की वजह जानकर चौंक जाएंगे आप
 

झज्जर में हैरतअंगेज मामला सामने आया है। युवक ने पुश्तैनी जमीन को हड़पने के लिए खूनी खेल खेला। इस पूरी साजिश में संजीव के साथ उसके ही परिवार के दो अन्य लोग शामिल मिले हैं। आरोपी संजीव इससे पहले भी वारदात में शामिल रहा है। उस पर गांव में ही एक फाच्र्यूनर गाड़ी को जलाने का आरोप है।

मामले में दिलचस्प पहलू ये भी है कि जिस जमीन को हड़पने के लिए उसने अपने खून के रिश्तों का कत्ल किया, वह जमीन भी अब उन लोगों के पास है, जिन्होंने इस जमीन को हड़पने के लिए आरोपी को बहला-फुसलाकर इन जघन्य हत्याओं को अंजाम दिलाया था।

झज्जर में हुई यह वारदात सुन आसपास के लोगों में भी दहशत है। जमीन को हड़पने के लिए एक युवक ने अपने खून के रिश्ते को शर्मसार कर दिया। युवक ने पहले अपने दादा को मौत के घाट उतारा और उसके कुछ रोज बाद ही मां व भाई को मार डाला। जिले के गांव डीघल में यह वारदात हुई है।

आरोपी करीब 24 साल का है। संजीव पुत्र धर्मबीर ने ही अपनी पुश्तैनी जमीन हड़पने के लिए ही इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया। इस जघन्य हत्याकांड का पूरी तरह खुलासा बुधवार को जिला लघु सचिवालय में एएसपी भारती डबास ने पत्रकारों के सामने किया।

गांव डीघल में पिछले साल 11 सितंबर की रात 78 साल के ईश्वर की मौत हुई थी, लेकिन परिवार वालों व ग्रामीणों ने बुजुर्ग की मौत को प्राकृतिक समझा और शव का अंतिम संस्कार कर दिया। परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम भी नहीं करवाया था।

बाद में हैरानीजनक बात सामने आई थी। बीस दिन बाद ही इसी घर में ईश्वर की पुत्रवधू सुशीला व सचिन के शव भी फांसी के फंदे पर लटके हुए पाए गए थे। इनके शवों को नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया गया, लेकिन कोई शिकायत न होने के चलते पुलिस ने इस मामले में इत्तफाकिया कार्रवाई की थी।

इस बीच एक-दो रोज पूर्व डीघल निवासी धर्मबीर ने पुलिस को सूचना दी थी कि उसे आशंका है कि उसके पिता ईश्वर व उसकी पत्नी सुशीला और बेटे सचिन की हत्या की गई है और इसके लिए उसका सगा बेटा संजीव किसी ने किसी रूप में शामिल है। धर्मबीर की इसी शिकायत पर जब पुलिस ने संजीव को हिरासत में लिया ।

मामले में खुलासा हुआ कि संजीव ने ही अपने दादा की साढ़े चार एकड़ खेती की जमीन हड़पने के लिए इस पूरी साजिश को अंजाम दिया है। पहले उसने दादा ईश्वर का गला घोंटकर हत्या की और बाद में उसके कुछ ही दिनों बाद उसने अपनी मां व भाई के खाने में नींद की गोलियां मिलाकर पहले उन्हें बेहोश किया और बाद उनकी गला घोंटकर हत्या की।

इसके बाद आरोपी ने साजिश के तहत मां व भाई के शव को फांसी के फंदे पर लटका दिया, ताकि कोई उस पर शक न कर सके और उनकी मौत आत्महत्या लगे। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश कर तीन दिनों के रिमांड पर लिया है। पुलिस के अनुसार आरोपी से और भी खुलासे हो सकते