Yuva Haryana
फरीदाबाद में जज के रीडर के बेटे की हत्या, गम में दोस्त ने की खुदकुशी
 

फरीदाबाद के गांव सागरपुर में पुरानी रंजिश के चलते एक युवक की आधा दर्जन बदमाशों ने चाकू मारकर हत्या कर दी, आरोपित फरार हैं। मृतक के साथी ने ट्रेन के आगे आकर आत्महत्या कर ली। थाना सदर पुलिस मामले की जांच में जुटी है। गांव सागरपुर निवासी राहुल का दो साल पहले एक युवक से विवाद हो गया था। उस विवाद के चलते दोनों पक्षों में रंजिश चली आ रही थी।

सागरपुर के रहने वाले धर्मराज ने बताया कि एक जनवरी को उनका बेटा राहुल समय करीब 05.30 बजे शाम को घर पर यह कह कर गया था कि वह गांव के रहने वाले हरिओम से मिलने जा रहा है। इसी दौरान 8-10 युवकों ने घेरकर चाकूओं से हमला कर हत्या कर दी।

उन्होंने देखा कि हरिओम, सागर उर्फ रणवीर, अमन उर्फ चन्द्रभान, आशीष उर्फ ज्ञानेन्द्र के हाथों में चाकू थे। जो राहुल पर ताबड़तोड़ वार कर रहे थे। इनके युवकों के अलावा अन्य 3-4 लडक़े ओर थे जिनके नाम वह नहीं जानते हैं पर सामने आने पर पहचान सकते हैं। जिनके हाथों में भी लाठी, डन्डा व चाकू थे। जिनसे वह राहुल पर वार कर रहे थे।

मृतक राहुल बिजनौर से एलएलबी दूसरे वर्ष का छात्र था। वह सेक्टर-12 स्थित कोर्ट में प्रेक्टिस के लिए जाया करता थे। थाना सदर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।रिंकू और राहुल के बीच गहरी दोस्ती थी। दोनों पूरे दिन साथ रहते थे। ग्रामीणों ने बताया कि दोनों बस सोने के लिए अलग होते थे। खाना भी साथ ही खाते थे। दोस्त की मौत के बाद रिंकू बेहद आहत था। उसने अपने भाईयों से कहा था कि अब वह भी जीवित नहीं बचेगा। सुबह उसके परिवार वाले राहुल के घर गए हुए थे। घर पर रिंकू अकेला था। वह घर से निकल गया। जब काफी देर तक वह वापस नहीं लौटा तो परिवार वाले ढूंढते हुए पटरी तक पहुंचे। वहां रिंकू का शव पड़ा था। पुलिस जांच में जुटी थी। पुलिस ने परिजन को बताया कि ट्रेन की टक्कर से उसकी मौत हो गई। जीआरपी मामले की जांच कर रही है।