\u0905\u0938\u092E \u0938\u0947 \u0905\u092A\u0939\u0930\u0923 \u0915\u0930 \u0928\u093E\u092C\u093E\u0932\u093F\u0917\u093E \u0915\u094B \u0938\u093F\u0930\u0938\u093E \u092E\u0947\u0902 \u092C\u0947\u091A\u093E, 6 \u092E\u0939\u0940\u0928\u0947 \u0906\u0930\u094B\u092A\u0940 \u0915\u0930\u0924\u093E \u0930\u0939\u093E \u0926\u0941\u0937\u094D\u0915\u0930\u094D\u092E

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. अनहोनी

असम से अपहरण कर नाबालिगा को सिरसा में बेचा, 6 महीने आरोपी करता रहा दुष्कर्म

Yuva Haryana News Sirsa, 9 August, 2020 एक नाबलिग लड़की का असम से पहले तो अपहरण किया गया, उसके बाद सिरसा के जोधकां गांव में उसे बेच दिया गया। इतना ही नहीं गांव के एक 40 साल के व्यक्ति ने नाबालिगा को 6 महीने तक घर में कैद कर लिया...


असम से अपहरण कर नाबालिगा को सिरसा में बेचा, 6 महीने आरोपी करता रहा दुष्कर्म

Yuva Haryana News

Sirsa, 9 August, 2020

एक नाबलिग लड़की का असम से पहले तो अपहरण किया गया, उसके बाद सिरसा के जोधकां गांव में उसे बेच दिया गया।

इतना ही नहीं गांव के एक 40 साल के व्यक्ति ने नाबालिगा को 6 महीने तक घर में कैद कर लिया और लगातार उसके साथ रेप करते रहा। अब नाबालिगा गर्भवती हो गई है। फिलहाल, बाल कल्याण समिति की टीम ने डिंग पुलिस की मदद से नाबालिगा को छुड़वा लिया है।

दरअसल, असम के शहर बंगाईगांव से 16 फरवरी 2020 को एक नाबालिग लापता हो गई थी। असम की बाल कल्याण समिति ने नाबालिग को मुक्त करवाने के लिए सिरसा बाल कल्याण समिति को पत्र लिखकर मदद मांगी थी।

असम से अपहरण कर नाबालिगा को सिरसा में बेचा, 6 महीने आरोपी करता रहा दुष्कर्म

इस पर परिजनों ने 17 फरवरी को बंगाईगांव थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। इसके बाद पुलिस ने नाबालिग की तलाश शुरू कर दी। असम पुलिस को संदेह था कि नाबालिग को मानव तस्करी करने वाले गिरोह ने अपहरण कर कहीं पर बेचा है।

वहीं, पुलिस ने बताया कि नाबालिगा को खरीदकर जोधकां के एक व्यक्ति ने अपने घर पर कैद करके रखा है। कुछ दिन पहले लड़की को उस व्यक्ति का मोबाइल मिल गया। जिसके बाद उसने अपनी मां को फोन कर दिया।

असम से अपहरण कर नाबालिगा को सिरसा में बेचा, 6 महीने आरोपी करता रहा दुष्कर्म

नाबालिगा ने सिरसा के एक गांव में कैद होने की बात कहते हुए पूरी कहानी बयां कर दी। नाबालिग की मां ने असम के बंगाईगांव पुलिस और बाल संरक्षण समिति को सूचना दी। वहीं पुलिस को इस व्यक्ति का फोन नंबर की जानकारी दी।

असम बाल संरक्षण इकाई ने सिरसा बाल संरक्षण को पत्र लिखकर जोधकां गांव में नाबालिग के बारे में घटना की जानकारी देते हुए पत्र लिखा। इस पर बाल कल्याण समिति ने डिंग पुलिस को पत्र लिखकर सहयोग मांगा। समिति की टीम डिंग पुलिस को लेकर गांव जोधकां में पहुंची। इसके बाद पुलिस ने नाबालिग को बाल समिति को सौंप दिया।

बाल कल्याण समिति सिरसा की अध्यक्षा अनिता वर्मा का कहना है कि डिंग पुलिस के सहयोग से नाबालिग को छुड़वा लिया गया है। परिजन जब तक नहीं आ जाते हैं। नाबालिग समिति की देखरेख में रहेगी।