\u0938\u0940\u090F\u092E \u092B\u094D\u0932\u093E\u0907\u0902\u0917 \u0928\u0947 \u091B\u093E\u092A\u0947\u092E\u093E\u0930\u0940 \u0915\u0930 \u0928\u0915\u0932\u0940 \u0916\u093E\u0926 \u0914\u0930 \u0915\u0940\u091F\u0928\u093E\u0936\u0915 \u092C\u0928\u093E\u0928\u0947 \u0935\u093E\u0932\u0940 \u092B\u0948\u0915\u094D\u091F\u094D\u0930\u0940 \u0915\u093E \u0915\u093F\u092F\u093E \u092D\u0902\u0921\u093E\u092B\u094B\u0921\u093C

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. अनहोनी

सीएम फ्लाइंग ने छापेमारी कर नकली खाद और कीटनाशक बनाने वाली फैक्ट्री का किया भंडाफोड़

Yuva Haryana News Hisar, 5 September, 2020 हरियाणा में अब अपने खून-पसीना एक कर फसल सींचने वाले किसानों के साथ भी धोखाधड़ी होने लगी है। ऐसा ही एक ठगी का मामला हिसार से सामने आया, जहां नकली खाद और कीटनाशक बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है। पति को जेल...


सीएम फ्लाइंग ने छापेमारी कर नकली खाद और कीटनाशक बनाने वाली फैक्ट्री का किया भंडाफोड़

Yuva Haryana News

Hisar, 5 September, 2020

हरियाणा में अब अपने खून-पसीना एक कर फसल सींचने वाले किसानों के साथ भी धोखाधड़ी होने लगी है। ऐसा ही एक ठगी का मामला हिसार से सामने आया, जहां नकली खाद और कीटनाशक बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है।

सीएम फ्लाइंड की टीम ने छापा मार, तो खुलासा हुआ। सीएम फ्लाइंग ने काफी संख्या में NPK खाद और कीटनाशक बरामद किया है। मौके से काफी संख्या में ब्रांडेड रैपर भी मिले हैं।

जानकारी मुताबिक, हिसार के बरवाला में अग्रोहा मार्ग पर एक फैक्ट्री में नकली खाद बनाई जा रही थी। इसकी सूचना सीएम फ्लाइंग को मिली थी जिसके बाद गुप्त सूचना के आधार पर सीएम फ्लाइंग की टीम ने छापेमारी की। इस दौरान भारी मात्रा में नकली खाद और कीटनाशक बरामद किये हैं।

फिलहाल इस फैक्ट्री को सील कर दिया गया है। शनिवार को इस फैक्ट्री की सील को खोल कर आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार क्वालिटी कंट्रोल इंस्पेक्टर राजवीर सिंह व एसडीओ पवन समेत अनेक अधिकारियों ने गुप्त सूचना के आधार पर छापा मारा।

डिप्टी डायरेक्टर बलवंत श्योराण भी मौके पर पहुंचे। इन अधिकारियों ने इस फैक्ट्री में पाया कि इस फैक्ट्री में नकली खाद को एक कट्टे में भरा जा रहा था और उस कट्टे पर ब्रांडेड कंपनी का रैपर लगाया जा रहा था। इस फैक्ट्री में नकली खाद को ब्रांडेड कंपनी का बना कर किसानों को बेचा जा रहा था।

इस फैक्ट्री में नकली कीटनाशक दवाइयों से भरे ड्रम से शीशीओ में भरा जा रहा था और उन शीशीओ पर कंपनी के रैपर लगाकर असली रुप दिया जा रहा था और नकली माल को असली माल के दामों में बेचकर किसानों को ठगा जा रहा था।