Yuva Haryana
दिनदहाड़े बिल्डिंग मेटीरियल सप्लायर की पांच गोलियां मारकर हत्या, इस रंजिश में की गई वारदात
 

रोहतक के झज्जर रोड पर वीरवार को दिनदहाड़े दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई। यहां कार सवार दो युवकों ने बिल्डिंग मेटीरियल सप्लायर जगदेव उर्फ जुगनू अहलावत (26) की पांच गोलियां मारकर हत्या कर दी। पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है।

वारदात को पुलिस आठ माह पहले वैश्य कॉलेज स्टेडियम में हुई पहलवान की हत्या से जोड़कर देख रही है। मृतक के भाई रोबिन के बयान पर केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने जनता कॉलोनी निवासी आकाश उर्फ गिट्टी व सुनारिया गांव निवासी पंकज समेत अन्य युवकों को नामजद किया है।

शीतल नगर निवासी रोबिन ने बताया कि उसका परिवार मूलरूप से झज्जर जिले के गोच्छी गांव का रहने वाला है और लंबे समय से रोहतक के शीतल नगर में रह रहा है। उसका बड़ा भाई जगदेव बिल्डिंग मेटीरियल सप्लायर के तौर पर काम करता था। इसके लिए झज्जर रोड पर वाटर वक्र्स के सामने कार्यालय खोल रखा है।

वीरवार दोपहर करीब तीन बजे वह अपने भाई जगदेव के साथ कार्यालय में बैठा हुआ था। उसका भाई जगदेव साथ में खाली पड़े प्लॉट में हुक्का भरने चला गया। इसी बीच उसे गोलियां चलने की आवाज सुनाई दी। उसने बाहर निकलकर देखा तो आकाश व पंकज बुधवार गोलियां चला रहे थे।

उसने ललकारा तो आरोपी सामने खड़ी कार में बैठकर फरार हो गए। उसके भाई जगदेव की गोलियां लगने से मौके पर मौत हो गई। आरोपी मौके से फरार हो गए। कार के काले शीशे होने के कारण वह नहीं देख सका कि कार में और कौन-कौन सवार थे।
 
पुलिस के मुताबिक मृतक के भाई रोबिन ने बताया कि उसके खिलाफ लड़ाई झगड़े का केस दर्ज था, जिसमें शीतल नगर निवासी लोकेश उर्फ गोगी भी नामजद था। करीब आठ माह पहले आरोपी जनता कॉलोनी निवासी आकाश के भाई की वैश्य कॉलेज स्थित स्टेडियम में हत्या हो गई।

उसमें गोगी के अलावा उसको भी नामजद करवाया गया था। पुलिस ने जांच में रोबिन को क्लीन चिट दे दी थी। उसी रंजिश के चलते आकाश उर्फ गिट्टी ने अपने साथी पंकज उर्फ पंकू व अन्य के साथ मिलकर उसके भाई की हत्या की है।

वारदात पुरानी रंजिश के चलते अंजाम दी गई लगती है। प्रारंभिक जांच के बाद कहा जा सकता है कि हमलावर रोबिन को मारने आए लेकिन नीचे जुगनू मिल गया। हो सकता है उसकी जुगनू से कहासुनी हुई हो। इसी के चलते उसकी गोली मारकर हत्या करके फरार हो गए।

हालांकि पुख्ता तौर पर आरोपियों के गिरफ्तार होने के बाद ही वारदात से पर्दा उठ सकेगा। शिवाजी कॉलोनी थाना पुलिस के साथ अपराध जांच शाखा प्रथम भी जांच पड़ताल कर रही है। अभी आरोपी गिरफ्त से बाहर हैं। पुलिस उनकी गिरफ्तारी के प्रयास में जुटी है।