\u0939\u0930\u093F\u092F\u093E\u0923\u093E \u092E\u0947\u0902 \u092A\u0902\u091A\u093E\u092F\u0924\u094B\u0902 \u0915\u094B \u092C\u0921\u093C\u0940 \u0930\u093E\u0939\u0924, \u0938\u0930\u0915\u093E\u0930 \u0928\u0947 \u092B\u093F\u0930 \u0926\u0940 \u092F\u0947 \u0936\u0915\u094D\u0924\u093F\u092F\u093E\u0902

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. Breaking

हरियाणा में पंचायतों को बड़ी राहत, सरकार ने फिर दी ये शक्तियां

Yuva Haryana, Chandigarh हरियाणा में पंचायतों को अब सरकार ने बड़ी राहत दी है। सरकार ने पंचायती चुनावों को देरी से देखते हुए यह फैसला लिया है। प्रदेश में अभी पंचायती चुनावों की तारीखों को लेकर संशय की स्थिति है, लेकिन पंचायतों का समय पूरा हो चुका है ऐसे में...


हरियाणा में पंचायतों को बड़ी राहत, सरकार ने फिर दी ये शक्तियां

Yuva Haryana, Chandigarh

हरियाणा में पंचायतों को अब सरकार ने बड़ी राहत दी है। सरकार ने पंचायती चुनावों को देरी से देखते हुए यह फैसला लिया है।

प्रदेश में अभी पंचायती चुनावों की तारीखों को लेकर संशय की स्थिति है, लेकिन पंचायतों का समय पूरा हो चुका है ऐसे में अब सरपंचों की सभी शक्तियां प्रशासकों के पास है।

हरियाणा में पंचायतों को बड़ी राहत, सरकार ने फिर दी ये शक्तियां

पंचायतों की तऱफ से पूरा रिकॉर्ड पंचायत विभाग के अधिकारियों को सौंपा जा चुका है, लेकिन इसी बीच सरकार ने अब पंचायतों को बड़ी राहत दे दी है।

सरकार ने गांवों के विकास में रुकावट पैदा ना हो इसके लिए पांच लाख रुपये तक के कार्य करवाने की इजाजत पंचायतों को दी गई है। सरपंच अब गांव में पांच लाख रुपये तक की राशि के विकास कार्य करवा सकेंगे।

हरियाणा में पंचायतों को बड़ी राहत, सरकार ने फिर दी ये शक्तियां

निवर्तमान जनप्रतिनिधियों को सोमवार से एक बार फिर वित्तीय शक्तियां प्रदान कर दी हैं। मौजूदा सरपंच और जिला परिषद अध्यक्ष अपने-अपने क्षेत्रों के प्रशासकों को भरोसे में लेकर वित्तीय कार्य करा सकते हैं।

उनके सामने एक लक्ष्मण रेखा भी खींची गई है। पांच लाख रुपये से अधिक के काम आनलाइन टेंडर के जरिये ही अलाट होंगे। इस राशि से नीचे के काम जनप्रतिनिधियों को अपने स्तर पर अलाट करने की पावर होगी।

हरियाणा में पंचायतों को बड़ी राहत, सरकार ने फिर दी ये शक्तियां

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री के नाते हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने यह आदेश जारी किए। उन्होंने चंडीगढ़ में रविवार को बताया कि सभी अधिकारियों को पंचायत प्रतिनिधियों को सशर्त वित्तीय अधिकार प्रदान करने के बारे में सूचित कर दिया गया है।

राज्य में अब 100 नई पंचायतें बनी हैं, जबकि 400 पंचायतें ऐसी हैं, जो गुरुग्राम, पानीपत और फरीदाबाद जिलों में आती हैं और पूरी तरह से शहरी परिक्षेत्र में मानी जाती हैं।