\u092D\u093F\u0935\u093E\u0928\u0940 \u0915\u0947 \u092E\u094B\u0939\u093F\u0924 \u0928\u0947 \u0905\u092A\u0928\u0947 \u0928\u093E\u092E \u0915\u093F\u092F\u093E ‘\u092D\u093E\u0930\u0924 \u0915\u0947\u0938\u0930\u0940 \u0916\u093F\u0924\u093E\u092C’

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. कला-संस्कृति

भिवानी के मोहित ने अपने नाम किया ‘भारत केसरी खिताब’

Yuva Haryana Haryana, 5 April, 2018 भिवानी के वेट पहलवान मोहित ग्रेवाल ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है। नोएडा में सम्पन्न हुई भारत केसरी दंगल में बामला के इस पहलवान ने ‘भारत केसरी का खिताब’ जीता है। अपने गांव बामला पहुंचने पर मोहित का फूल- मालाओं और ढ़ोल- नगाड़ों से...


भिवानी के मोहित ने अपने नाम किया ‘भारत केसरी खिताब’

Yuva Haryana

Haryana, 5 April, 2018

भिवानी के वेट पहलवान मोहित ग्रेवाल ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है। नोएडा में सम्पन्न हुई भारत केसरी दंगल में बामला के इस पहलवान ने ‘भारत केसरी का खिताब’ जीता है।

अपने गांव बामला पहुंचने पर मोहित का फूल- मालाओं और ढ़ोल- नगाड़ों से स्वागत किया गया। इस मौके पर गांव बामला के 12 गांवों के पंचायत प्रतिनिधियों ने अंतर्राष्ट्रीय पहलवान मोहित ग्रेवाल का अभिनंदन किया।

मोहिता ने पहले भी बहुत से खिताब अपने नाम किए हुए हैं। तुर्की में आयोजित विश्व स्कूल कुश्ती में स्वर्ण पदक जीतकर सुपर हैवी वेट में उन्होंने अपनी योग्यता का प्रमाण दिया था।

इसके बाद रोहतक में आयोजित अखिल भारतीय विश्व विद्यालय कुश्ती में स्वर्ण,  फिनलैंड में आयोजित विश्व कुश्ती चैम्पियनशीप में शानदार प्रदर्शन, जूनियर राष्ट्रीय कुश्ती में रजत और कांस्य, सब जूनियर राष्ट्रीय खेलों में स्वर्ण, राष्ट्रीय स्कूल खेलों में स्वर्ण पदक जीता था।

मोहित ने बताया कि उसे अपने परिवार से ही इसकी प्रेरणा मिली है। पिता डीएसपी जगबीर सिंह खुद भी अंतर्राष्ट्रीय पहलवान रह चुके हैं।  उन्हें भारत केसरी, हरियाणा केसरी के साथ सेफ- खेलों का स्वर्ण पदक विजेता होने का गौरव भी हासिल है।

चाचा वीरेन्द्र ग्रेवाल और ताऊ राजपाल, चाचा सुरेश भी अंतर्राष्ट्रीय पहलवान रह चुके हैं। मोहित के दादा रणसिंह पहलवान भी अपने जमाने के नामी पहलवानों में शुमार थे।