\u0905\u092C \u0935\u093F\u0936\u094D\u0935 \u0938\u094D\u0924\u0930 \u092A\u0930 \u0939\u094B\u0917\u093E \u0939\u0930\u093F\u092F\u093E\u0923\u093E \u0915\u093E \u0928\u093E\u092E, \u0924\u0948\u092F\u093E\u0930 \u0939\u094B\u0917\u0940 \u0928\u0908 \u092B\u093F\u0932\u094D\u092E \u092A\u0949\u0932\u093F\u0938\u0940

“The world’s most advanced Real Content in Hindi”

  1. Home
  2. कला-संस्कृति

अब विश्व स्तर पर होगा हरियाणा का नाम, तैयार होगी नई फिल्म पॉलिसी

हरियाणा ने अपनी फिल्म पॉलिसी तैयार कर ली है। इसे कैबिनेट की अगली बैठक में लाया जाएगा। पॉलिसी में फिल्म निर्माताओं को सिंगल विंडो के तहत सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। इनमें सिक्योरिटी, परमिशन और सेफ्टी प्रमुख रूप से शामिल हैं। मुंबई में बैठे फिल्म निर्माता ऑनलाइन आवेदन कर...


अब विश्व स्तर पर होगा हरियाणा का नाम, तैयार होगी नई फिल्म पॉलिसी

हरियाणा ने अपनी फिल्म पॉलिसी तैयार कर ली है। इसे कैबिनेट की अगली बैठक में लाया जाएगा। पॉलिसी में फिल्म निर्माताओं को सिंगल विंडो के तहत सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। इनमें सिक्योरिटी, परमिशन और सेफ्टी प्रमुख रूप से शामिल हैं।

मुंबई में बैठे फिल्म निर्माता ऑनलाइन आवेदन कर फिल्म बनाने के लिए आवेदन कर सकेंगे। फिलहाल पॉलिसी न होने से फिल्म निर्माताओं को बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ता है।

यदि दो जिलों में फिल्म बनाने के लिए सिक्योरिटी या सेफ्टी की जरूरत होती थी, तो दो जिलों में आवेदन करना पड़ता था। अब अलग-अलग जिलों में आवेदन करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

शूटिंग जोन, लोकेशन आदि की जानकारी भी सिंगल विंडो से उपलब्ध हो सकेंगी। नई नीति बनने से प्रदेश के लोगों को जहां रोजगार उपलब्ध होंगे, वहीं हरियाणवी कल्चर को बढ़ावा मिलेगा। हरियाणा के कलाकार भी आगे बढ़ सकेंगे।

यही नहीं इससे प्रदेश में जॉब के अवसर भी पैदा होंगे, हरियाणा कल्चर के नाम पर फिल्में फिलहाल अरबों रुपए कमा रही हैं। ऐसे में हरियाणा में बॉलीवुड फिल्मों के निर्माण में तेजी आएगी और विश्व स्तर पर हरियाणा का नाम होगा। अब इसे हरियाणा में भी इंडस्ट्री का दर्जादिए जाने की योजना है।

अभी हरियाणा में 171 स्क्रीन हैं, इनमें सबसे अधिक गुड़गांव, फरीदाबाद, रोहतक, सोनीपत के अलावा पंचकूला व अन्य शहर शामिल हैं।

पॉलिसी के तहत प्रदेश में कई शूटिगं स्थल विकसित किए जाएंगे। इनमें पहाड़ी एरिया के अलावा देहात के मुख्य स्थल शामिल होंगे।

इनमें फिल्म सिटी, फिल्म शॉपिगं सेंटर आदि तैयार होंगे। मोरनी हिल्स के अलावा, बड़खल झील, कर्ण लेक, गुड़गांव, फरीदाबाद, बांगर की धरती और हरियाणा के यमुना बेल्ट के अलावा पश्चिमी हरियाणा के जिलों को शामिल किया जा सकता है।